बिहार में गंगा नदी पर बनेगा 15वां पुल, 3 राज्यों की दूरी होगी कम, जानें विस्तार से

बिहार की जनता के लिए एक और खुशखबरी की बात सामने आई है। बेगूसराय के मटिहानी से शाम्हो के बीच गंगा नदी पर पुल बनने का रास्ता अब साफ होता दिख रहा है। यह बिहार में गंगा नदी पर बनने वाला पंद्रहवाँ पुल होगा। जून मे इसके लिए फिजीबिलिटी रिपोर्ट का काम शुरू किया गया था जो कि अब संभवतः पूरा कर लिया गया है। जानकारी के अनुसार NHAI द्वारा रिपोर्ट को सही पाया गया है।

सांसद राकेश सिन्हा ने नितिन गडकरी से की थी मुलाकात

Coronavirus: Union Minister Nitin Gadkari also corona positive isolates  himself

पुल के निर्माण के लिए भाजपा सांसद राकेश सिन्हा द्वारा केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की गई थी। जिसके बाद ही nhai द्वारा पुल बनाए जाने को लेकर फ़िजीबिलिटी रिपोर्ट का काम शुरू किया गया था। रिपोर्ट के अनुसार nhai द्वारा यह पाया गया है कि इस क्षेत्र में पुल की जरूरत है। जिसके बाद अब nhai ने एक एजेंसी को इसका dpr बनाने का जिम्मा सौंपा है। dpr के तैयार होने के बाद इसके निर्माण के लिए बजट तैयार किया जाएगा साथ ही अन्य प्रक्रियाओं को भी मंजूरी दी जाएगी।

तीन राज्यों में आना जाना होगा आसान

Ganga river water improved for humans and aquatic organisms due to effect  of lockdown - लॉकडाउन का असर : इंसानों और जलीय जीवों के लिए बेहतर हुआ गंगाजल

इस पुल के बन जाने के से एनएच 31 और एनएच 80 आपस में जुड़ जाएंगे। इससे बिहार को झारखंड, पश्चिम बंगाल और ओडिसा आने जाने के लिए एक नया रास्ता उपलब्ध होगा। पुल के निर्माण से खास तौर पर स्थानीय किसानों को फायदा होगा। उन्हें अपने उत्पाद बेचने के लिए एक बड़ा बाजार उपलब्ध होगा। इतना ही नहीं बल्कि मुंगेर और भागलपुर के बीच की दूरी भी काफी कम हो जाएगी।

बेहद जरूरी है पुल

special on Ganga Dussehra: Ganga River has Started Cleaning Herself during  Corona Lokdown and know what the reason and what is saying Expert - गंगा  दशहरा पर विशेष: खुद को स्वच्छ करने

बिहार के इस इलाके में गंगा नदी पर पुल की मांग काफी समय से की जा रही थी। अब केंद्र सरकार द्वारा जब इसके निर्माण के लिए प्रक्रिया शुरू की गई है तो इससे किसानों समेत अन्य लोगों को भी इसका फायदा मिलेगा। बता दें कि इस पुल के बनने से बेगूसराय से लखीसराय, मुंगेर, भागलपुर आना-जाना और आसान हो जाएगा। इससे स्थानीय जनता को सफर करने में काफी सहूलियत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *