विधान परिषद में बवाल : मुकेश सहनी के खिलाफ जबर्दस्त हंगामा, मंत्री ने अपने भाई से करवाया था कार्यक्रम का उद्‌घाटन

पटना : मत्स्य व पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी के खिलाफ शुक्रवार को विधान परिषद में जमकर हंगामा हुआ। सदन की कार्यवाही शुरू होने के साथ मंत्री मुकेश पर विपक्ष हावी हो गया। दरअसल, गुरुवार को हाजीपुर में एक सरकारी कार्यक्रम में मंत्री ने अपने भाई को उद्‌घाटन करने के लिए भेज दिया था। इस दौरान मंत्री के भाई को मंत्री वाली सभी सुविधाएं और ट्रीटमेंट मिले, जिस पर विपक्ष ने जमकर बवाल किया। राजद के विधान पार्षदों ने कहा कि कोई भी मंत्री ऐसे कैसे कर सकता है? सरकारी कार्यक्रम में अपनी जगह मंत्री अपने भाई कैसे भेज दिए? इस पर खूब हंगामा बरपाया।

क्या था वह कार्यक्रम
हाजीपुर में मत्स्य विभाग ने सरकारी कार्यक्रम कराया था। इसमें चयनित मछली पालकों को आइस बॉक्स मोपेड, छोटी मछली वाहक गाड़ियां दी जानी थीं। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुकेश सहनी थी, लेकिन कार्यक्रम में वे नहीं आए और उनकी जगह उनके भाई पहुंचे और मंत्री वाले प्रोटोकॉल का भी फायदा उठाया।

सड़क दुर्घटना की मुआवजा नीति बदले जाने की मांग
इधर, बिहार विधानसभा सत्र के दौरान शुक्रवार को सड़क हादसे में मारे गए व्यक्ति के परिवार वालों को मिलने वाली मुआवजे को लेकर नीति में बदलाव की मांग उठी। प्रश्नोत्तर काल में बीजेपी विधायक पवन जायवाल ने कहा कि पीड़ित परिवार वालों को सामूहि मौत मामले में मुआवजा नहीं मिल पाता है। मृत व्यक्ति की सही पहचान नहीं होने से पीड़ित परिवार लाभ से वंचित हो रहा है। इस पर आपदा प्रबंधन मंत्री रेणु देवी ने कहा कि सड़क हादसे के सामूहिक मौत मामले में ही सरकार मुआवजा की नीति रख रही है। इस पर कई विधायकों ने मुआवजा नीति को बदले जाने की मांग की। विधायकों का कहना है कि सड़क हादसे में एक व्यक्ति की मौत पर मुआवजा नहीं मिला मानवीय पहलू है। इसमें बदलाव होना चाहिए। पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाए जाना चाहिए। नीति में बदलाव की मांग राजद विधायक चंद्रशेखर और बीजेपी विधायक संजय सरावगी के अलावा कई विधायकों ने की। इधर, मंत्री ने कहा कि त्वरित मुआवजा के लिए जल्द गाइडलाइल जारी की जाएगी। साथ ही सभी मामलों को एक महीने के अंदर निपटाया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *