छापे के दौरान खूब मिला कैश। Image Source : Agencies

अकूत लूट : इतना कैश मिला DTO के घर से कि नोट गिनने की मशीन मंगवाई विजिलेंस ने

Patna : बिहार में परिवहन विभाग के आंखों के नूर जिला परिवहन अधिकारी (DTO) रजनीश लाल के कई ठिकानों पर विजिलेंस ने एकसाथ छापा मारा है। छापे में विजिलेंस की टीम को छोटे छोटे नोट के ढेर मिले। इतना पैसा कैश में दिखा कि अफसरों के होश फाख्ता हो गये। विजिलेंस की जांच टीम ने नोट गिननेवाली मशीन मंगवाई। मशीन पर पैसे गिनने में चार लोगों को लगाया गया। नोट गिनने का काम अभी भी चल रहा है। खबर तो यह भी है कि डीटीओ के सभी ठिकानों पर कैश का भंडार मिला है। पटना के कंकड़बाग घर पर करीब पचास लाख रुपये कैश मिला है और इसके अभी और बढ़ने की संभावना है। मुजफ्फरपुर के आवास से भी अत्यधिक कैश जांच टीम को हाथ लगा है। यहां पर डीटीओ किराये के मकान में रहते हैं। आज कबीर जयंती की सरकारी छुट‍्टी की वजह से कार्रवाई करने में विजिलेंस टीम को काफी मदद भी मिली।


बताते चलें कि विजिलेंस टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए गुरुवार को डीटीओ रजनीश लाल के पटना स्थित आवास के अलावा कई ठिकानों पर एक साथ छामामारी की। विजिलेंस की इस कार्रवाई से हड़कंप मच गया है। ऐसी खबर है कि विलिजेंस टीम को उनके कंकड़बाग स्थित आवास से 50 लाख रुपये कैश और सोने के बिस्कुट सहित कई कीमती सामान मिले हैं। विजिलेंस को उनके कंकड़बाग स्थित आवास से एक पिस्टल भी मिली है। विजिलेंस की एक टीम मुजफ्फरपुर के एमआइटी स्थित किराये के मकान में रह रहे डीटीओ के घर पर भी पहुंची। वहां भी छापामारी में टीम को लाखों नकदी मिलने की बात सामने आई है।
इसके अलावा कई तरह के जमीन के कागजात भी विजिलेंस को मिले हैं। वि‍जिलेंस अधिकारियों ने अभी तक अधिकारिक रूप से इस छापामारी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी है। अधिकारियों की ओर से सिर्फ इतना ही बताया गया है कि पटना समेत कई जगहों पर कार्रवाई चल रही है। कार्रवाई पूरी होने के बाद विस्‍तृत जानकारी दी जायेगी।
इस पूरे मामले का आश्चर्यजनक पहलू यह है कि परिवहन विभाग उन पर कुछ ज्यादा ही मेहरबान रहा है। यही कारण है कि जहां दूसरे अफसर एक अच्छा जिला पाने के लिये और पैसे की लूट मचाने के लिये लार टपकाते रहते हैं वहीं रजनीश लाल के पास मुजफ्फरपुर डीटीओ के अलावा छपरा डीटीओ का भी चार्ज है। दो-दो जगह तैनात डीटीओ के ठिकानों से अब इतनी बड़ी मात्रा में नगदी और अन्‍य कीमती सामानों की बरामदगी ने कई सवाल खड़े कर दिये हैं। विजिलेंस टीम इस मामले के विभिन्‍न पहलुओं को खंगालने का प्रयास कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *