पटना में कोरोना से लड़ने की पहले जैसी तैयारी, एम्स और ईएसआई बिहटा फिर बनेगा कोविड अस्पताल

पटना : कोरोना वायरस का संक्रमण पटना में बहुत ज्यादा फैल चुका है। गुरुवार को जिले में 743 नए मरीज मिले। इसके बाद एम्स और ईएसआई बिहटा को फिर से कोविड अस्पताल बनाने का फैसला लिया गया। यहां 950 बेड बढ़ाए जाएंगे। इसके बाद एम्स में 450 मरीजों का इलाज किया जाएगा। फिलहाल एम्स में कोरोना मरीजों के लिए 150 बेड रिजर्व हैं। ईएसआईसी बिहटा में 50 बेड हैं। साथ ही आईसीयू में 12 बेड रिजर्व हैं। कोरोना डेडिकेट अस्पताल बनने के बाद 500 बेड के साथ 125 आईसीयू बेड होंगे। इन दोनों के अलावा पीएमसीएच और एनएमसीएच में पहले से ही 100-100 बेड रिजर्व हैं।

मुख्यमंत्री बोले-परदेसी निगेटिव भी निकले तो कुछ दिन अलग रखें
कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर चिंता जताते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों की कोरोना जांच हर स्तर पर करें। अगर, कोई निगेटिव भी नहीं निकलता है तो कुछ दिन उन्हें भी अलग रखें। नीतीश ने कहा कि आठ राज्यों में कोरोना तेजी से फैल रहा है। ऐसे में वहां काम बंद होने पर लोग बिहार लौटेंगे तो उन पर विशेष नजर रखकर हम सूबे में संक्रमण पर काबू पा सकते हैं। इन लोगों के लिए क्वारेंटाइन सेंटर और रोजगार का प्रबंध करने का आदेश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *