एम्स की प्रतीकात्मक फाइल फोटो। Image Source : Social Media

विश्व के सर्वश्रेष्ठ मेडिकल स्कूलों की रैंकिंग में एम्स ने ऑक्सफोर्ड, कैम्ब्रिज को पीछे छोड़ा

New Delhi : दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मेडिकल स्कूलों की रैंकिंग में प्रतिष्ठित संस्थानों को पीछे छोड़ दिया है। वर्ल्ड पत्रिका सीईओ के अनुसार, एम्स 86.38 अंकों के साथ बेस्ट 100 की सूची में 23वें स्थान पर है। अमेरिका स्थित जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन 99.06 के उच्चतम स्कोर के साथ पहले स्थान पर है। इसके बाद हार्वर्ड मेडिकल स्कूल, पेरेलमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन और एनवाईयू ग्रॉसमैन स्कूल ऑफ मेडिसिन है। यूके स्थित ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी मेडिकल स्कूल ने 86.02 का स्कोर हासिल कर 24वां स्थान हासिल किया। इसके बाद सिनसिनाटी कॉलेज ऑफ मेडिसिन (85.08) और यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज स्कूल ऑफ क्लिनिकल मेडिसिन (84.96) का स्थान है।

 

बहरहाल खुशी की बात यह है कि भारत के कई और मेडिकल स्कूलों ने इस सूची में जगह बनाई है। पुणे स्थित सशस्त्र बल मेडिकल कॉलेज 83.04 के स्कोर के साथ 34वें स्थान पर रहा। वेल्लोर का क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज 80.83 के स्कोर के साथ 49वें स्थान पर रहा। पांडिचेरी स्थित जिपमर 59वें स्थान पर जबकि मेडिकल कॉलेज चेन्नई 64वें और आईएमएस बीएचयू वाराणसी 72वें स्थान पर रहा। रैंकिंग को साझा करते हुए, केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि यह प्रत्येक भारतीय के लिए “गर्व का क्षण” है क्योंकि छह भारतीय मेडिकल कॉलेजों को 2021 में दुनिया के 100 सर्वश्रेष्ठ मेडिकल कॉलेजों की सूची में जगह मिली है।
उन्होंने भारत का नेतृत्व करने के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व को श्रेय दिया, जो चिकित्सा बुनियादी ढांचे के मामले में सर्वश्रेष्ठ बनने की राह पर देश को आगे बढ़ाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *