नालंदा के केके यूनिवर्सिटी में उद्योग मंत्री शहनवाज हुसैन का स्वागत। साथ में बिहार में इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट की प्रतीकात्मक तस्वीर। Image Source : Social Media/ Tamil one india

हर जिले में कम से कम 200 इंडस्ट्रियल यूनिट लगेंगे, नालंदा में 528 करोड़ के निवेश पर काम चालू

Patna : राज्य के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि सरकार की यह जिद है कि हर जिले में कम से कम 200 इंडस्ट्रियल यूनिट लगायेंगे। राज्य सरकार इस लक्ष्य को हासिल करने के लिये मिशन मोड में काम कर रही है। पूरे राज्य में उद्योगों का जाल बिछाया जायेगा। रोजगार के असीम अवसर पैदा होंगे। इथेनॉल के बाद शीघ्र ही सूबे में टेक्सटाइल, लेदर, हैंडीक्राफ्ट, हैंडलूम, खादी व अन्य नई पॉलिसियां लायी जायेंगी। महज इथेनॉल पॉलिसी लाने से 10 हजार करोड़ का निवेश हो रहा है। सिर्फ नालंदा में ही 528 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव को स्वीकृत किया जा चुका है। 428 करोड़ से इथेनॉल इंडस्ट्री के लिये काम चल रहा है। 100 करोड़ रुपये की लागत से पीवीसी और अन्य इंडस्ट्रियल यूनिट लगाने की दिशा में काम हो रहा है।

उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने रविवार को यूपीवीसी मैनुफैक्चरिंग यूनिट का उद्घाटन किया। इसी मौके पर उन्होंने सरकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा- बिहार बिल्कुल नई उड़ान के लिये तैयार है। राज्य उद्योगों का केंद्र बनेगा। बिहार की तकदीर-तस्वीर संवारने के लिये ऐसी पिच तैयार की गई है कि यहां के युवा बेहद सफल और बड़े उद्यमी बनेंगे। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में एनडीए सरकार का यह कार्यकाल राज्य में उद्योगों की स्थापना और रोजगार-स्वरोजगार का स्वर्णिम कार्यकाल साबित होगा।
उन्होंने कहा – पटना के नजदीक होने के कारण नालंदा में उद्योगों की अपार संभावनाएं हैँ। लोकप्रिय टूरिज्म डेस्टिनेशन होने की वजह से भी यहां रुझान ज्यादा है। उन्होंने कहा कि हर जिले में उद्योगों के लिए प्रयास के साथ ही हम ‘वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट’ के फार्मूले पर भी बारीकी से काम कर रहे हैं। उद्योग मंत्री ने नालंदा पहुंचने के बाद पटेल एग्रो इंडस्ट्रीज के राईस मिल यूनिट और पटेल वेयरहाउसिंग यूनिट का भी दौरा किया। नालंदा के पटेल एग्रो इंडस्ट्रीज के ब्वॉयल राइस मिलिंग की क्षमता 72 मीट्रिक टन प्रति घंटा है और 1500 मीट्रिक टन प्रतिदिन है। उन्होंने कहा कि इस ग्रुप द्वारा तैयार सोनम, कतरनी, आईआर 64, बासमती, सोना मसूरी व अऩ्य चावल देश के कई राज्यों के साथ लंदन, दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, नेपाल भी जाता है। लंदन में यहां का ब्राउन राइस खूब पंसद किया जाता है।
इसके पहले केके यूनिवर्सिटी में उन्होंने लोगों से कहा कि विपक्ष गफलत में न रहे। नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली बिहार की एनडीए सरकार पूरे पांच साल चलेगी। यह सरकार बेहतर काम कर रही है। किसी मुद्दे को सार्वजिनक रूप से रखने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का कोई सानी नहीं है। सरकार के पिछले कार्यकाल में बिजली, सड़क, पानी व कानून का राज स्थापित किया गया लेकिन, चालू कार्यकाल उद्योग व रोजगार के लिए जाना जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *