सरकारी राशन दुकान पर 1 मिनट में बनेगा आपका आयुष्मान कार्ड, मोदी सरकार का बड़ा ऐलान

Patna : आयुष्मान कार्ड बनाने में तेजी लाने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने राज्यभर में प्रतिदिन 4 लाख 35 हजार 754 कार्ड बनाने का लक्ष्य दिया है। पूर्वी चंपारण में सबसे अधिक 22 हजार 606 कार्ड प्रतिदिन बनाना है। मुजफ्फरपुर में 20 हजार 832, भागलपुर में 13 हजार 190 और गया में 17 हजार 38 कार्ड प्रतिदिन बनाने का लक्ष्य दिया गया है।

सूबे में गरीब परिवारों को सालाना पांच लाख रुपए तक मुफ्त इलाज की सुविधा दिलाने के लिए आयुष्मान कार्ड बनाने की रफ्तार धीमी है। लगभग 5 साल में अब तक 11 फीसदी ही कार्ड बने हैं। केंद्र और राज्य की दोनों योजना के तहत 1.79 करोड़ परिवारों के 8 करोड़ 7150763 लोगों का कार्ड बनाना है। दो मार्च को विशेष अभियान को जोड़कर 98 लाख कार्ड बने हैं। इसमें शनिवार को विशेष अभियान के पहले दिन ही 10 लाख कार्ड शामिल हैं। इसके पहले लगभग 88 लाख कार्ड बने थे। 2018 से शुरू हुई इस योजना के लिए बिहार में तब चिह्नित 1 करोड़ 8 लाख परिवारों के 5 करोड़ 55 लाख सदस्यों का अलग-अलग कार्ड बनाना था। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आयोग्य योजना से 1 करोड़ 21 लाख परिवारों को इस योजना में शामिल कर लिया है। इससे छूटे 86 लाख परिवारों कासे मुख्यमंत्री जन आयोग्य योजना का लाभ मिलना है। इस तरह अब बिहार के कुल 1 करोड़ 79 लाख 511 परिवारों के 8 करोड़ 71 लाख 50 हजार 763 व्यक्तियों का आयुष्मान कार्ड बनाना है। दो मार्च से कॉमन सर्विस सेंटर के साथ ही जन वितरण प्रणाली की दुकान में आयुष्मान कार्ड बनना शुरू हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *