बंगाल चुनाव : नीतीश कुमार को लगा जोर का झटका, 3 उम्मीदवारों का नामांकन रद्द

पटना : बंगाल चुनाव को लेकर जदयू को बड़ा झटका लगा है। नीतीश कुमार की पार्टी के तीन उम्मीदवारों का नामांकन रद्द कर दिया गया है। पार्टी के चार नेताओं ने नामांकन पर्चा दाखिल किया था, जिसमें से तीन का नामांकन रद्द किया जा चुका है। ऐसे में जदयू के कार्यकर्ताओं का मनोबल गिरा है। बता दें बंगाल के मिदनापुर, बांकुरा पार्टर, पूर्वी मिदनापुर और झारग्राम में जदयू ने उम्मीदवार को मैदान में उतारा था। इधर, तृणमूल कांग्रेस का एक विधायक जदयू में शामिल होने वाला है। जदयू के पश्चिम बंगाल प्रभारी गुलाम रसूल बलियावी ने बताया कि नलहाटी विधानसभा क्षेत्र के तृणमूल विधायक मोइनउद्दीन शम्स जदयू में शामिल होंगे। मोइनउद्दीन शम्स ने जदयू के टिकट पर चुनाव लड़ने का वादा किया है। जदयू नेता ने कहा कि वह काफी दिनों से जदयू के शीर्ष नेताओं के संपर्क में थे।

उपेंद्र कुशवाहा को भी बड़ा झटका, पार्टी के कई बड़े नेताओं ने तेजस्वी का दामन थामा
जदयू में राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रोलसपा) के प्रस्तावित विलय से नाराज उपेंद्र कुशवाहा के नेता अब राजद में शामिल होंगे। रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष समेत दर्जन भर नेता राजद की सदस्यता लेने वाले हैं। शुक्रवार की दोपहर 2 बजे ये तमाम नेता राजद कार्यालय में मिलन समारोह में पहुंचेंगे, जहां नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह उन नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाएंगे। बता दें बिहार विधानसभा चुनाव के दौरान ही रालोसपा के प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी ने राजद का थामन थाम लिया था। इनके बाद वीरेंद्र कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी गई थी, जो अब राजद में शामिल होने जा रहे हैं। इनके अलावा पार्टी के प्रधान सचिव निर्मल कुशवाहा और महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्ष मधु मंजरी भी राजद में शामिल हो रही हैं। इतना लगभग सभी प्रकोष्ठ के नेता तेजस्वी से जुड़ने को तैयार हैं।

13 और 14 मार्च को रालोसपा की कार्यसमिति की है बैठक
जदयू के साथ रोलसपा के विलय की बात पिछले एक महीने से चल रही है। उपेंद्र कुशवाहा भी कई बार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार समेत जदयू के तमाम शीर्ष नेताओं के संपर्क में रहे हैं। अब रोलसपा ने 13 और 14 मार्च को पटना में पार्टी कार्यसमिति की बैठक बुलाई है। ऐसे में यह माना जा रहा है कि कार्यसमिति की बैठक से पहले ही रोलसपा के बड़े नेता और कार्यकर्ता राजद में शामिल हो जाएंगे तो रालोसपा का जदयू से अकेले विलय होगा। यानी सिर्फ उपेंद्र कुशवाहा और कुछ छोटे कार्यकर्ता ही जदयू में शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *