बिजली।

बिहार में बिजली हुआ सस्ता, लोकसभा चुनाव से पहले नीतीश सरकार ने लिया बड़ा फैसला, लोगों को राहत

राहत विनियामक आयोग के फैसले के बाद कंपनी ने बिजली दर 15 पैसे प्रति यूनिट घटाई, बिहार में बिजली दो फीसदी सस्ती :

राज्य के लगभग दो करोड़ बिजली उपभोक्ताओं के लिए राहत भरी खबर है। बिहार में बिजली लगभग दो फीसदी सस्ती हो गई है। बिजली दर में 3.03 फीसदी वृद्धि के कंपनी के प्रस्ताव को बिहार विद्युत विनियामक आयोग ने खारिज कर दिया। आयोग ने सभी श्रेणियों की बिजली दर में दो फीसदी की कमी कर दी।

विनियामक आयोग का निर्णय आते ही बिजली कंपनी ने उपभोक्ताओं को अनुदान जारी रखते हुए सभी श्रेणियों की बिजली दर में 15 पैसे प्रति यूनिट की कमी कर दी। सबसे सस्ती बिजली किसानों को मात्र 55 पैसे प्रति यूनिट की दर से मिलेगी। कंपनी के इस निर्णय से किसानों को जहां 96 करोड़ तो राज्य के सभी श्रेणी के उपभोक्ताओं को 740 करोड़ की बचत होगी। नई बिजली दर आगामी एक अप्रैल से प्रभावी होगी।

शुक्रवार को पहली बार विनियामक आयोग के अध्यक्ष का पद खाली रहने के कारण बिजली दर पर फैसला आयोग के दोनों सदस्य अरुण कुमार सिन्हा और परशुराम सिंह यादव ने सुनाया। कंपनियों ने पिछले वर्ष नवंबर में ही बिजली दर में वृद्धि का प्रस्ताव दिया था। कंपनी की ओर से याचिका दायर करने के बाद विनियामक आयोग ने मोतिहारी, सासाराम, बिहारशरीफ, पूर्णिया और पटना में जनसुनवाई की। आयोग के समक्ष 50 तरह के सुझाव आए। लोगों से मिले सुझावों और कंपनी की हो रही आमदनी को देखते हुए आयोग ने बिजली दर कम करने का निर्णय लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *