बिहार में का बा: भोजपुरी में सरकारों को पानी पिला रही है बिटिया, बहुत दिनों बाद दिखी ऐसी प्रतिभा

बिहार में का बा… बिहार मे नेहा जइसन प्रतिभा बा। एक ऐसी प्रतिभा जिसकी आज केवल बिहार ही नहीं बल्कि पूरे देश में चर्चा हो रही है। जी हां बिहार के कैमूर जिले की रहने वाली नेहा सिंह राठौर की आज सभी कोई चर्चा कर रहा है और इसका कारण है उनके द्वारा गाये गए भोजपुरी गाने। नेहा अपने गानों के जरिये जनसमस्यों को सरकार तक पहुंचाती हैं। अभी प्रदेश में चुनावी माहौल हैं, और इस माहौल में नेहा के गीत हर एक आम आदमी के घावों को ज़रूर कुरेद रहे होंगे।

बिहार में का बा … से एक बार फिर चर्चा में नेहा
आपने मनोज वजपायी का गाना ‘बंबई में का बा’ ज़रूर सुना होगा। ऐसे ही नेहा ने भी बिहार को लेकर एक गाना गया ‘बिहार में का बा’, जिसके बाद वे एक बार फिर से सोशल मीडिया पर वायरल हो गईं हैं। बिहार में चुनावी माहौल है ऐसे में ये गाना और भी तेज़ी से वायरल हो रहा है और लोगों द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है।

इस गाने में नेहा ने 15 साल लालू तो 15 साल नीतीश दोनों के ही कार्यकालों का ज़िक्र किया है और कहा है कि इस बावजूद बिहार में बेरोजगारी एक बड़ी समस्या है। रोजगार के लोगों को अपना घर छोड़ कर अन्य प्रदेशों व देशों में जाना पड़ता है।

आप भी सुनिए :

बिहार में का बा – पार्ट 1

बिहार में का बा?अब न्यूज़ 24 के साथ. 😊🙏❤️

नेहा सिंह राठौर यांनी वर पोस्ट केले मंगळवार, १५ सप्टेंबर, २०२०

बिहार में का बा – पार्ट 2

बिहार में का बा! Part 2

बिहार में का बा! Part 2Share Kare!#bihar #बिहार #बिहार_चुनाव

नेहा सिंह राठौर यांनी वर पोस्ट केले शुक्रवार, १८ सप्टेंबर, २०२०

बिहार में का बा – पार्ट 3

#बिहार_में_का_बा #भाग_3 ईटा पाथत फूलचंद के बड़की बिटिया गायब बा,सुनवाई केहरो ना भाई, छोटके मालिक पे सक बा…अरे का बा!अरे केतना मरि गईले मजदूर एकर नाहीं डाटा बासरकार लेत खर्राटा बा….पिपरा लटके निबिया लटकेपंखा लटकत किसान बासरकार बहादुर कहेले देसवा मोर महान बा…इहै बा…

नेहा सिंह राठौर यांनी वर पोस्ट केले शनिवार, २६ सप्टेंबर, २०२०

हालो हालो दिल्ली सरकार… बिहार से बेरोजगार बोलतानी

नेहा वैसे तो काफी पहले से भोजपुरी गीत गा रही हैं, लेकिन वो तब ज्यादा चर्चा में आईं जब उन्होनें बेरोजगारी को लेकर एक भोजपुरी गीत गया जिसके बोल थे-

अरे सूट-बूट आ टाई लगा के, बबरी टेवतानी, हालो हालो दिल्ली सरकार, बिहार से बेरोजगार बोलतानी, यूपी से बेरोजगार बोलतानी…
बी-एड, एम-एड डिग्री ले के, घाँस गढ़तानि, हालो हालो दिल्ली सरकार, बिहार से बेरोजगार बोलतानी, यूपी से बेरोजगार बोलतानी…

विपक्ष द्वारा प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिवस को बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया जा रहा था। तभी नेहा द्वारा गए गए इस गीत को लोगों ने सोशल मीडिया पर शेयर करना शुरू किया। कई बड़े नेताओं ने भी इस गीत को अपने-अपने सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया, जिसके बाद से ही नेहा के गाये कई गीत अब सोशल मीडिया पर वायरल हैं।

यहां देखें वीडियो-

बेरोजगारी के आलम में थरिया पीटत बानी…#बेरोजगारी_गीत #शेयर_करेंसाथियों,बेरोजगारी से बड़ी कोई गारी (गाली) नहीं होती है.रोजगार की लड़ाई सिर्फ पैसा कमाने की जद्दोजहद नहीं होती, बल्कि ये अपना खोया हुआ सम्मान दोबारा हासिल करने का संघर्ष होता है.इस लड़ाई में मैं आपके साथ हूँ.आज का 'बेरोजगारी-गीत' मेरे यूट्यूब चैनल #धरोहर पर भी अपलोड किया गया है. मेरे चैनल को #सब्सक्राइब करें.

नेहा सिंह राठौर यांनी वर पोस्ट केले बुधवार, १६ सप्टेंबर, २०२०

क्या कहती हैं नेहा

नेहा का कहना है कि वे लोगों की आवाज़ बनना चाहती हैं। उन्होनें कभी भी वायरल होने के उद्देश्य से गाने ना गाये और न ही लिखे हैं। कहा कि अपने गानों के माध्यम से लोगों की समस्याएं सरकार तक पहुंचाना उनका उद्देश्य रहा है और इसके लिए वे ईमानदारी से काम करती हैं। उनका यह भी कहना है कि भोजपुरी गानों में अश्लीलता बढ़ रही है ऐसे में उनका अपनी भाषा की सेवा करना भी एक बड़ा कारण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *