बीपीएससी टॉपर गौरव सिंह और सेकेंड टॉपर चंदा। Image Source : Live Bihar/ Vishal Kumar

BPSC के परिणाम जारी, रोहतास की पंचायत शिक्षिका के बेटे गौरव सिंह टॉपर बने, चंदा को दूसरा स्थान

New Delhi : बिहार लोक सेवा आयोग (BPSC) ने 7 अक्टूबर को BPSC 65वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा (CCE) के अंतिम परिणाम घोषित कर दिये हैं। मेरिट लिस्ट के अनुसार, गौरव सिंह ने बीपीएससी सीसीई परीक्षा में टॉप किया है, जबकि चंदा भारती और सुमित कुमार ने क्रमशः दूसरा और तीसरा स्थान हासिल किया है। पूरा परिणाम बीपीएससी की आधिकारिक वेबसाइट bpsc.bih.nic.in पर ऑनलाइन देखा जा सकता है। मुख्य परीक्षा के बाद 1142 उम्मीदवारों का साक्षात्कार के लिए चयन किया गया था। बीपीएससी की 65वीं प्रतियोगी परीक्षा के माध्यम से बिहार सरकार के 14 विभागों में कुल 423 रिक्तियां भरी जायेंगी। अंतिम चयन मुख्य और साक्षात्कार में संयुक्त रूप से प्राप्त अंकों के आधार पर किया गया था। अंतिम परीक्षा के लिए अनारक्षित वर्ग के लिये कट-ऑफ अंक 532 है जबकि आरक्षित वर्ग के लिए 515 अंक है।

बीपीएससी 65वीं सीसीई फाइनल रिजल्ट 2021 चेक ऐसे करें- बीपीएससी की वेबसाइट- bpsc.bih.nic.in पर जायें। फिर होम पेज पर, ’65वीं संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा अंतिम परिणाम’ लिंक पर क्लिक करें। अब, स्क्रीन पर एक पीडीएफ फाइल दिखाई देगी। इसमें अपना नाम और रोल नंबर खोजें। आयोग ने परिणाम घोषणा पीडीएफ में सभी श्रेणियों के लिए कट-ऑफ अंक सूची जारी की है। बीपीएससी 65वीं सीसीई परीक्षा में शामिल हुए सभी उम्मीदवारों की मार्कशीट जल्द ही आयोग की आधिकारिक वेबसाइट पर जारी की जायेगी।
बीपीएससी टॉपर गौरव सिंह की मां शशि कुमारी उत्क्रमित मध्य विद्यालय में पंचायत शिक्षिका हैं। पिता स्वयं मनोज कुमार सिंह वायु सेना में कार्यरत थे। मनोज कुमार सिंह का बचपन में ही निधन हो गया था। टॉपर गौरव के दूसरे भाई अमन कुमार सिंह पंजाब के लुधियाना से इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ रहे हैं। वहीं, बीपीएससी की सेकंड टॉपर चंदा भारती बांका की रहने वाली हैं। वह गया बुडको में सहायक अभियंता के पद पर कार्यरत हैं। पिता विवेकानंद यादव गढ़वा में सहायक अभियंता हैं। माता का नाम कुंदन कुमारी है। चंदा भारती तीन भाई और एक बहन हैं।
साक्षात्कार के लिये 1,142 उम्मीदवारों को बुलाया गया था, जिनमें से 1,114 उम्मीदवार उपस्थित हुये। अनारक्षित वर्ग के पुरुष उम्मीदवारों के लिये कटऑफ 532 है, अनारक्षित श्रेणी की महिला उम्मीदवारों के लिये 515, ईडब्ल्यूएस (महिला) के लिये 530, एससी (पुरुष) के लिये 504, एससी (पुरुष) के लिये 507 और एसटी (पुरुष) के लिये 495 अंक हैं। है। बिहार सरकार के 14 विभागों में कुल 423 रिक्तियों के लिए परीक्षा आयोजित की गई थी, जिसमें से 422 उम्मीदवारों को सफल घोषित किया गया है। इस भर्ती के लिये इंटरव्यू अगस्त में आयोजित किया गया था।
शीर्ष 10 सूची : गौरव सिंह – रोहतास, चंदा भारती – बांका, वरुण कुमार – नालंदा, सुमित कुमार – मधुबनी, अविनाश कुमार सिंह – समस्तीपुर, आदित्य श्रीवास्तव – झारखंड, एस प्रतीक – मोतिहारी, आदित्य कुमार – भोजपुर, अनामिका- गोपालगंज, अंकित कुमार – भागलपुर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *