Image Source : ANI

कैप्टन अमरिंदर का ऐलान- सिद्धू पाक का दोस्त, उसे CM नहीं बनने दूंगा, यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मसला

New Delhi : पंजाब कांग्रेस में महीनों की खींचतान के बाद मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपना इस्तीफा सौंप दिया, जिसे राज्य के राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया। सूत्रों के मुताबिक, पंजाब का अगला मुख्यमंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के नेतृत्व वाले खेमे से होने की संभावना है। सूत्रों ने बताया कि पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ अगले मुख्यमंत्री के लिये पहली पसंद हो सकते हैं। मुख्यमंत्री के रूप में जाखड़ की नियुक्ति पंजाब कांग्रेस को एक हिंदू मुख्यमंत्री और जाट सिख पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीपीसीसी) के अध्यक्ष का संयोजन दे सकती है, जो आगामी राज्य विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी को बढ़त दे सकती है। हालाँकि, यह भी उम्मीद की जा रही है कि नवजोत सिंह सिद्धू को खुद शीर्ष पद के लिए पेश किया जाये क्योंकि सुनील जाखड़ पंजाब विधानसभा में विधायक नहीं हैं।

इधर पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पार्टी प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू पर बड़ा आरोप लगाया है। कैप्टन ने कहा कि सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और सेना प्रमुख जनरल बाजवा के दोस्त हैं। अगर कांग्रेस पार्टी उन्हें पंजाब के मुख्यमंत्री का चेहरा बनाती है, तो मैं इसका विरोध करूंगा, क्योंकि यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा है।
कैप्टन बोले – वह मेरे मंत्री थे और उन्हें निकाल दिया था। 7 महीने तक मेरी फाइलें क्लियर नहीं कीं। क्या ऐसा व्यक्ति जो एक विभाग को नहीं संभाल सकता, एक राज्य को संभाल सकता है? सिद्धू कुछ भी नहीं संभाल सकते, मैं उन्हें अच्छी तरह जानता हूं। यह पंजाब के लिये भयानक होने वाला है।
बहरहाल पंजाब में मुख्यमंत्री के लिये एक और नाम जो चर्चा में है वह है फतेहगढ़ साहिब के विधायक कुलजीत सिंह नागरा का। वह सिद्धू खेमे के नेताओं में शामिल थे, जो कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक से पहले आज चंडीगढ़ हवाई अड्डे पर पार्टी पर्यवेक्षक अजय माकन और हरीश चौधरी की अगवानी करने गये थे।
इस बीच शनिवार को चंडीगढ़ में कांग्रेस विधायक दल की बैठक में दो प्रस्ताव पारित किये गये। पहला प्रस्ताव पंजाब के विकास में कैप्टन अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली सरकार की भूमिका की सराहना में था। दूसरे प्रस्ताव में कहा गया है कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पंजाब के नये मुख्यमंत्री का चयन करेंगी और विधायक सदस्यों को इस फैसले को स्वीकार करना होगा।

कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत कांग्रेस के सिर्फ दो विधायक कांग्रेस विधायक दल की बैठक में शामिल नहीं हुये। (Input : www.livebavaal.com)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *