31 हज़ार चल-अचल संपत्ति की मालकिन और दिहाड़ी मज़दूर की पत्नी बनी MLA

New Delhi : पश्चिम बंगाल चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को भले करारे हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन इस चुनावी मशक़्क़त में पार्टी ने कुछ हीरे ज़रूर तराश दिये हैं। पार्टी की ओर से कई ऐसे लोग जनप्रतिनिधि बनकर सामने आये हैं जो आनेवाले समय में पार्टी को धार दे सकते हैं। ज़ोरदार ढंग से लोगों की आवाज़ बुलंद कर सकते हैं। इनमें से एक नाम है चंदना बाउरी का। चंदना भारतीय जनता पार्टी की टिकट पर चुनाव जीत गईं हैं और ख़ास बात यह है कि चंदना के पति दिहाड़ी मज़दूर हैं और संपत्ति के नाम पर दो बकरियों की मालकिन हैं। अब पश्चिम बंगाल के सल्टौरा निर्वाचन क्षेत्र से जीतकर आईं दिहाड़ी मजदूर की पत्नी चंदना बाउरी के लिए बधाई भरे ट्वीट डाले जा रहे हैं।

सोशल मीडिया पर चंदना की कहानी वायरल हो गई है। 30 साल की चंदना बाउरी ने तृणमूल कांग्रेस के संतोष कुमार मंडल को 4,000 से अधिक मतों के अंतर से हराया है। जीत के बाद भी उनकी विनम्रता वैसी ही बनी रही जैसी चुनाव प्रचार के दौरान थी। उनकी सादगी और विनम्र व्यवहार को लोगों ने खूब पसंद किया।
उनके चुनावी हलफनामे के मुताबिक, तीन बच्चों की मां चंदना बाउरी के पास सिर्फ 31,985 रुपये की संपत्ति है, जबकि उनके पति की संपत्ति 30,311 रुपये है। बाउरी के पति एक दैनिक मज़दूर हैं जो राजमिस्त्री का काम करते हैं। दंपति के पास तीन बकरियां और तीन गाय हैं।
जब भाजपा का टिकट मिलने पर उनसे प्रतिक्रिया ली गई थी तो उन्होंने कहा था – टिकटों की घोषणा से पहले मुझे नहीं पता था कि मुझे विधान सभा चुनाव में उम्मीदवार के रूप में चुना जाएगा। कई लोगों ने मुझे ऑनलाइन नामांकन के लिए आवेदन करने के लिए प्रोत्साहित किया, लेकिन मुझे नहीं लगा कि मैं यह उपलब्धि हासिल कर पाऊंगी। ट्विटर पर लोग चंदना बाउरी के जीतने की खबर को काफ़ी प्रमुखता से शेयर कर रहे हैं। एक ट्विटर यूज़र ने बिना किसी राजनीतिक कनेक्शन के इस जीत को “आम महिला” की जीत करार दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *