चिराग ने चुनावी रण में किन्नर को उतारा, हथुआ की इस उम्मीदवार के हैं जलवे

पटना

बिहार का महापर्व छठ है और दूसरा पर्व चुनाव। संयोग देखिए दोनों इस बार आसपास ही हैं। जब चुनाव से निवृत्त होगा बिहार तो छठ के आयोजन में डूब जाएगा। यह तो वक्त आएगा कि चुनाव में उगते सूरज को कौन अर्घ्य देगा और किसका सूरज डूब जाएगा। लेकिन बिहार चुनाव में सभी अपने तरकश में छिपे एक-एक तीर का इस्तेमाल जरूर कर रहे हैं। अब चिराग पासवान को ही लीजिए। इस बार लोजपा से उन्होंने जिन नेताओं को टिकट दिया है उनमें एक किन्नर/थर्ड जेंडर भी शामिल हैं। लोजपा ने गोपालगंज की हथुआ विधानसभा सीट से किन्नर राम दर्शन प्रसाद उर्फ मुन्ना को टिकट दिया है। आज के जमाने में भी ये चिराग का आधुनिक कदम कहा जाएगा। क्योंकि हमने चाहे जितनी भी तरक्की कर लो ही, आज भी थर्ड जेंडर के प्रति हमारा रवैया ठीक नहीं हुआ है।

महाभारत के शिखंडी की आ गई याद?

आपमें से हर किसी को महाभारत की कहानी याद होगी। दुनिया में ऐसा महाकाव्य कहीं रचा ही नहीं गया। परिवार, राजनीति, दोस्ती, दुश्मनी चाहे जिस सवाल का जवाब ढूंढो वो महाभारत में जरूर मिल जाएगा। महाभारत का एक बहुत प्रसिद्ध पात्र शिखंडी है, जो पूर्व जन्म में औरत थी। पितामह भीष्म को उसके पूर्व जन्म की कहानी पता था क्योंकि शिखंडी का जन्म ही उनकी मृत्यु के लिए हुआ था। जब भीष्म से पांडव नहीं जीत पाए तो शिखंडी को आगे कर अर्जुन ने पितामह पर तीर चलाए थे। चिराग के इस पैंतरे से वही कहानी याद आ गई। हालांकि अब चिराग के लिए भीष्म कौन हैं, ये तो शायद वही बता पाएंगे।

कौन हैं किन्नर राम दर्शन प्रसाद उर्फ मुन्ना?

किन्नर राम दर्शन प्रसाद उर्फ मुन्ना पहले से ही राजनीति में सक्रिय हैं। फिलहाल वो जिला पार्षद हैं। शुक्रवार को उन्होंने विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन भी कर दिया है। वह कहते/कहती हैं कि एक किन्नर को टिकट देकर चिराग पासवान ने पूरे देश की किन्नर बिरादरी का सम्मान किया है। उन्होंने कहा कि इस सम्मान की वजह से चिराग पासवान अगले सीएम बनेंगे। राम दर्शन प्रसाद उर्फ मुन्ना किन्नर ने पहली बार पार्षद का चुनाव 2007 में लड़ा था, लेकिन तब उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। फिर 2012 में फुलवरिया और 2015 में हथुआ से वह चुनाव जीतने में सफल रहे/रहीं।

मिला बंगला छाप सिंबल

मुन्ना किन्नर को बंगला छाप सिंबल मिला है। नामांकन के बाद उन्होंने कहा कि जनता उन्हें सपोर्ट करेगी। दो बार जिला पार्षद रह चुके हैं। जनता के लिए खूब सेवा करेंगे। अब ये तो वक्त बताएगा कि जनता मुन्ना किन्नर को अपनी सेवा का अवसर देती है या नहीं। वैसे हथुआ में मुन्ना किन्रर की लोकप्रियता अच्छी खासी है। बताया जाता है कि वह जनता से जुड़े मुद्दे को लेकर सक्रिय रहते/रहती हैं। खैर, जनता उनकी उम्मीदवारी को कितना गंभीरता से लेती है ये 10 नवंबर को पता चल ही जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *