Patna: Bihar Chief Minister Nitish Kumar addressing at a function for the inauguration of developmental schemes of Department of Energy in Patna. for representative image only. PTI Photo

CM नीतीश का ऐलान- मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में 33% सीटें गर्ल्स स्टूडेंट के लिये आरक्षित

Patna : एक बड़ा और ऐतिहासिक फैसला लेते हुये बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज राज्य के मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेजों में 33% सीटें गर्ल्स स्टूडेंट के लिये आरक्षित किये जाने की घोषणा की। मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई एक उच्चस्तरी वर्चुअल बैठक में यह निर्णय लिया गया। राज्य में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिये आगे बढ़ते हुये मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमारी सरकार इन संस्थानों को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने के लिये इंजीनियरिंग और चिकित्सा विश्वविद्यालयों की स्थापना के लिये एक विधेयक लाने का प्रयास कर रही है। नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य के इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेजों में नामांकन में कम से कम एक तिहाई सीटें लड़कियों के लिये आरक्षित की जायेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे छात्राओं की संख्या बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि यह एक अनोखी बात होगी और लड़कियों को उच्च और तकनीकी शिक्षा के प्रति अधिक प्रेरित किया जा सकेगा। नीतीश कुमार ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज खोले जा रहे हैं। कई मेडिकल कॉलेज भी खोले गये हैं। सरकार के इस कदम का उद्देश्य राज्य के भीतर उच्च शिक्षा प्रदान करना है ताकि छात्र उच्च अध्ययन के लिये दूसरे राज्यों में पलायन न करें।
मुख्यमंत्री के सामने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी और मेडिकल यूनिवर्सिटी स्थापित करने के संबंध में प्रस्तावित विधेयक का प्रेजेन्टेशन दिया गया। साइंस एंड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट की तरफ से प्रेजेंटेशन के माध्यम से बिहार इंजीनियरिंग यूनिवर्सिटी एक्ट-2021 और पावर एंड फंक्शन ऑफ यूनिवर्सिटिज, जुरिडिक्शन और अन्य प्रॉविजन के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि छात्राओं के लिए सीट आरक्षित करने से इनकी संख्या और बढ़ेगी। यह यूनिक चीज होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *