CNG बसों की प्रतीकात्मक तस्वीर। फाइल फोटो

जुलाई से पटना में चलेंगी सीएनजी बसें, खटालों पर नकेल कसने का निर्णय लेगा निगम

Patna : राजधानी में जुलाई से 55 नई सीएनजी बसें चलेंगी। इसके लिये परिवहन निगम द्वारा परमिट लेने की प्रक्रिया चल रही है। करीब 16 रूटों पर दो से चार सीएनजी बसें चलेंगी। गांधी मैदान से हाजीपुर, राजगीर और बिहारशरीफ के लिये भी दो-दो सीएनजी बसें दी जायेंगी। यह कवायद शहर को प्रदूषणमुक्त करने के लिये हो रही है। इन बसों का परिचालन शुरू होने के बाद शहर में सीएनजी और इलेक्ट्रिक बसों की संख्या करीब 99 हो जायेगी। आर ब्लॉक-दीघा अटल पथ पर भी अगले माह से बसें दौड़ने लगेंगी। इसके लिये परमिट की प्रक्रिया करीब पूरी हो चुकी है। अटल पथ पर कहां-कहां बस रुकेगी, इसकी फिर से समीक्षा की जा रही है। स्टॉपेज की संख्या बढ़ सकती है। अभी आते-जाते 32 स्टॉपेज हैं।

इधर नगर निगम की स्थायी समिति की बैठक 26 जून को होगी। इसमें राजधानी में गंभीर हो रहे वायु प्रदूषण पर चर्चा होगी। 15वें वित्त आयोग के तहत वायु प्रदूषण से निजात के लिए काम होना है। इसके साथ ही खटाल संचालकों पर लगाम लगाने की तैयारी की जा रही है। पिछली बार निगम बोर्ड की बैठक में खटाल संचालकों द्वारा नालों में गोबर बहाने पर दंडात्मक कार्रवाई का प्रस्ताव आया था। सांसद रामकृपाल यादव ने इसका विरोध किया था। इसको लेकर फिर विशेष प्रस्ताव तैयार किया गया है, जिसे पेश किया जायेगा। निगम ने डीलक्स और अन्य शौचालयों के संचालन, रखरखाव का जिम्मा निजी एजेंसियों को देने की तैयारी की है। यह प्रस्ताव स्थायी समिति को भेजा गया है।
मंजूरी के बाद टेंडर जारी होगा। इसके अलावा वार्ड 61 के रानीपुर काली स्थान व मेहंदीगंज के निकट हाई यील्ड बोरिंग लगाये जाने को स्वीकृति मिल सकती है। पीडीएमसी के माध्यम से मैकेनिक और हेल्पर की आपूर्ति के संबंध में भी निर्णय लिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *