4 और 18 जनवरी, बिहार के लोग डेट नोट करें, स्कूल-कोचिंग-कॉलेज को लेकर हो गया फैसला

पटना: कोरोना वायरस के संक्रमण ने लोगों के जीवन को खतरा पहुंचाने के साथ-साथ भारत के कारोबारी जगत की रीढ़ भी तोड़ दी है। बच्चों और युवाओं की पढ़ाई को जो नुकसान पहुंचा उसने तो उन्हें एक साल पीछे कर दिया, निजी शिक्षा के कारोबारियों की अक्ल भी वायरस के दौर में मंद पड़ गई। अब जबकि वायरस का जोर कुछ कम हो रहा है, तो उम्मीद की किरणें फिर दिखने लगी हैं और बिहार सरकर ने स्कूल-कोचिंग और क़ॉलेजों को लेकर बड़ा फैसला कर लिया है। सरकार ने पिछले 10 महीने से बंद पड़े स्कूलों कॉलेजों को चरणबद्ध तरीके से खोलने का निर्णय लिया है।

4 जनवरी से खुलेंगे सभी स्कूल-कोचिंग-कॉलेज लेकिन…

बिहार सरकार ने 4 जनवरी से स्कूलों, कोचिंगों और कॉलेजों को खोलने का फैसला किया है लेकिन इसके साथ एक लेकिन जुड़ा है। असल में शुरुआत में केवल सीनीयर क्लास खुलेंगे। फिर मामले की समीक्षा होगी और बाकियों के लिए 18 जनवरी को फैसला किया जाएगा। मुख्य सचिव की बैठक के बाद जो फैसला आया है उसके मुताबिक 4 जनवरी सो 9वीं से 12वीं तक के सारे स्कूल खुल जाएंगे। इसके अलावा अंतिम वर्ष के स्टूडेंट्स के लिए कॉलेज भी खुल जाएंगे।

कोचिंग संस्थान भी 4 जनवरी से खुलेंगे लेकिन…

कोचिंग संस्थानों को भी 4 जनवरी से खोलने का फैसला लिया गया है। हालांकि कोचिंग संस्थानों को पहले कोविड-19 प्रोटोकॉल के मुताबिक कार्य योजना बनानी होगी। फिर इस कार्य योजना को जिलाधिकारी से स्वीकृत कराना होगा। डीएम की अनुमति के बाद ही कोचिंग और उससे जुड़े हॉस्टलों का संचालन शुरू हो सकेगा।

आपदा विभाग करेगा समीक्षा

4 जनवरी से जब चरणबद्ध तरीके से स्कूल, कोचिंग और कॉलेज खुलेंगे तो आपदा विभाग स्थिति की लगातार समीक्षा करेगा। नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई होगी। क्लास रोटेशन में चलेंगी। मास्क अनिवार्य होंगे। फिर देखा जाएगा कि कोरोना का असर कहीं बढ़ तो नहीं रहा। अगर सब ठीक रहा तो 18 जनवरी से एक से लेकर 8वीं तक के स्कूल भी खोल दिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *