अयोध्या की सड़कें श्रीराम, मां सीता और हनुमान की झाकियों से अटी पड़ी हैं। Image Source : tweeted by @uptourismgov

दीपावली…अयोध्यावाली- प्रभु श्रीराम की नगरी में जश्न का माहौल, 10 लाख दीये जलायेंगे, सरयू के घाट जगमग

New Delhi : दिवाली से पहले बुधवार शाम अयोध्या के राम की पैड़ी घाट पर भव्य दीपोत्सव की तैयारियां अंतिम चरण में हैं। पूरे अयोध्या शहर में 9 लाख दीये जलाकर कीर्तिमान बनाने का प्रयास किया जायेगा।
अयोध्या के एसएसपी शैलेश पांडे ने कहा- शहर के बाहरी से भीतरी घेरे में सात-परत सुरक्षा तंत्र है। अयोध्या की सुरक्षा को मजबूत करने के लिये पुलिस, विशेष अभियान समूह और विशेष सुरक्षा बल को तैनात किया गया है। सुरक्षा जांच और खुफिया जानकारी भेजने के लिये हमने सिविल कपड़े में कई पुलिसकर्मियों को भी तैनात किया है। सरयू नदी घाटों पर जीवन रक्षक उपकरणों के साथ चालीस नावें तैनात की गई हैं।

हाल ही में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के एक आतंकवादी कमांडर द्वारा लिखित धमकी भरा पत्र मिलने के बाद सुरक्षा बढ़ा दी गई है। आतंकी के पत्र में अयोध्या सहित 46 रेलवे स्टेशनों को उड़ाने की धमकी दी गई है।
शहर की सीमाओं को सील कर दिया गया है और वीआईपी और आधिकारिक कारों को छोड़कर वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जिन्हें राम कथा पार्क से एक किलोमीटर दूर पार्क करने की आवश्यकता है।
एम्बुलेंस की सुरक्षित आवाजाही सुनिश्चित करने के लिये विशेष ड्यूटी अधिकारियों को तैनात किया गया है। बुधवार को मुख्य कार्यक्रम से पहले मंगलवार को भव्य शोभा यात्रा का पूर्वाभ्यास किया गया। यात्रा को उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा साकेत कॉलेज मैदान से हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे।

पूरे देश और सार्क देशों के लगभग 200 कलाकार शोभा यात्रा में भाग लेंगे, जिसके दौरान वे रामायण के दृश्यों का चित्रण करेंगे। राम कथा पार्क में विशिष्ट अतिथियों का स्वागत वैदिक मंत्रोच्चार से किया जाएगा।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगी, वहीं अयोध्या की परंपरा और सांस्कृतिक विरासत पर एक पुस्तक का भी विमोचन किया जायेगा।
मीडिया से बात करते हुए, अयोध्या के एक साधु ने कहा- भगवान राम अपनी पत्नी सीता और भाई लक्ष्मण के साथ 14 साल के ‘वन वास’ को पूरा करने के बाद अयोध्या वापस आये। यह हमारे लिये जश्न मनाने और आनंद लेने का समय है।

 

अयोध्या खूबसूरत दिख रही है और मैं इसके लिये उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को धन्यवाद देता हूं। पिछले साल अयोध्या में ‘दीपोत्सव’ समारोह ने सरयू नदी के तट पर 5,84,572 मिट्टी के दीपक जलाये जाने के बाद ‘तेल के दीपक के सबसे बड़े प्रदर्शन’ के लिये गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *