प्रतीकात्मक तस्वीर : Image Source : via social media

घरेलू रसोइये ने सीनियर आईपीएस की बेटी से बेडरूम में दुष्कर्म का प्रयास किया

Patna : जिन हाथों ने उसे पाल पोस कर बड़ा किया। गोद में खिलाया। वही हाथ उस बच्ची के लिये दुष्कर्मी हो गये। बिहार कैडर की वरिष्ठ आईपीएस महिला की नाबालिग बेटी से आईपीएस के रसोइये ने ही दुष्कर्म की कोशिश की। आईपीएस और उनके पति जब किसी काम से घर से बाहर गये थे तो 53 वर्षीय रसोइये ने दस वर्षीय नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। हद तो यह है कि बच्ची की मां आईपीएस अफसर उस रसोइये को इतना मानती थी कि उसकी बच्चियों की शादी में उसके गांव तक जाती थीं और उसके हर सुख दुख में उसका साथ दिया था।
आईपीएस का रसोइया 12 साल की बच्ची के बेडरूम में घुस गया और कमरे को अंदर से बंद कर दिया। वह बिस्तर पर बैठ गया और गलत नीयत से उसके पैर दबाने लगा। पांचवीं कक्षा के छात्र ने विरोध किया, चिल्लाई तो रसोइया कमरे से निकल गया। फिर वह चुप रहने के लिये लड़की के पास 200 रुपये की चॉकलेट लेकर आया।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

घबराई छात्रा ने फोन कर आईपीएस मां को घटना की जानकारी देने की कोशिश की, लेकिन उसका मोबाइल रीडर के पास था। उसने कई बार अपनी मां को फोन किया लेकिन बात नहीं हो सकी। कुछ देर बाद बात हुई तो बच्ची ने सारी बात अपनी मां को बताई। मां ने पिता को सारी जानकारी दी और दंपति तुरंत घर के लिये निकल गये।
इसी बीच रसोइया बच्चा कुमार ने आईपीएस अफसर को फोन कर कहा कि मेरी ड्यूटी खत्म हो गई है, मैं जा रहा हूं। आईपीएस ने बच्चा कुमार को वहीं रहने को कहा। बेटी की सारी बातें सुनने के बाद आईपीएस ने महिला थाने को फोन किया। आईपीएस के पति भी बड़े अफसर हैं। बुलाने पर महिला थाना पुलिस वहां पहुंच गई। बच्चे के खिलाफ लिखित शिकायत के बाद उसे वहीं से गिरफ्तार कर लिया गया। महिला एसएचओ किशोरी सहचारी ने अरापी को गिरफ्तार किये जाने की पुष्टि की है। महिला थाने में दुष्कर्म के प्रयास के साथ ही पोक्सो एक्ट की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।
बच्चा कुमार आईपीएस अधिकारी के पुराना रसोइया है। उस बच्ची का जन्म दियारा निवासी रसोइये के सामने हुआ था। रसोइये ने उस लड़की को अपनी गोद में खिलाया और बड़ा किया। लेकिन उसी इंसान ने उस लड़की के साथ गलत काम करने की कोशिश की, जिसे वह पिता की तरह देखती थी। आईपीएस को इस रसोइया पर इतना विश्वास था कि वह अपनी दो बेटियों की शादी के लिये अपने गांव चली गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *