प्रतीकात्मक तस्वीर। Image Source : screengrab from a video

ऐसे होते हैं इंजीनियर- सैलरी मिली 38 लाख और बैंक-एफडी में जमा किये 2.37 करोड़, कई प्रोपर्टी भी खरीदी

Patna : एक रेलवे इंजीनियर की तीन करोड़ से अधिक की संपत्ति दर्ज की गई है। इस मामले में इंजीनियर पहले से जेल में बंद है, क्योंकि जमालपुर में अपनी पोस्टिंग के दौरान इसने रेलवे को खूब चूना लगाया। इस काम में इसका पार्टनर बना पटना के महरानी स्टील का मालिक। जमालपुर में करीब चार साल की नौकरी के दौरान इस इंजीनियर को 38 लाख बतौर सैलरी हासिल हुये। मगर इसी दौरान इसने 3 करोड़ से अधिक के निवेश एफडी, इन्श्योरेन्स, म्यूचुअल फंड, बैंक आदि में किये। अब इस मामले की जांच पड़ताल के बाद उत्तर पूर्व रेलवे के जमालपुर वर्कशॉप के तत्कालीन सीनियर सेक्शन इंजीनियर चंदेश्वर प्रसाद यादव की करोड़ों की संपत्ति जब्त कर ली गई है। आय से अधिक संपत्ति के इस मामले में इंजीनियर के नाम पर अर्जित 3 करोड़ 44 लाख की चल-अचल संपत्ति जब्त की गई है।

चंदेश्वर प्रसाद यादव 2013 से 2017 तक जमालपुर रेलवे फैक्ट्री में सीनियर सेक्शन इंजीनियर (कैंसल्ड गुड्स ट्रेन कोच) के पद पर तैनात थे। इस दौरान उन्होंने अकूत संपत्ति अर्जित की। यह संपत्ति उनके, पत्नी उर्मिला देवी, पुत्रों भारत भूषण और शशि भूषण के नाम है। उनके द्वारा अर्जित की गई संपत्ति उनकी आय के ज्ञात स्रोतों से 3 करोड़ रुपये से अधिक है। सीबीआई ने उनके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में कार्रवाई की थी। इसके बाद ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग की जांच शुरू की। जांच में पता चला कि 2013 से 2017 के बीच उसे वेतन से करीब 38 लाख रुपये मिले। लेकिन इस दौरान उन्होंने अपने और अपने परिवार के सदस्यों के नाम विभिन्न बैंक खातों, एफडी आदि के माध्यम से 2,37,96,990 रुपये जमा किये।
ED की पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे हुये। वरिष्ठ अनुभाग अभियंता चंदेश्वर प्रसाद यादव ने तैनाती के दौरान खराब कोच और मालगाड़ी के अन्य स्पेयर पार्ट्स की कम कीमत दिखाकर ठेकेदार को लाभ पहुंचाया। उसने पटना की महारानी स्टील्स के मालिक देवेश कुमार के साथ मिलकर रेलवे को करोड़ों का चूना लगाया।
वरिष्ठ अभियंता की पांच अचल संपत्तियां कुर्क की गईं, जिनमें गार्डनीबाग में घर और महनार, दलसिंहसराय, हाजीपुर में खरीदे गये भूखंड शामिल हैं। ये संपत्तियां पत्नी के नाम पर खरीदी गई हैं। वहीं, 35.85 लाख रुपये के 7 म्यूचुअल फंड, 7.97 लाख रुपये की 4 बीमा पॉलिसी, 1.64 करोड़ रुपये की 29 सावधि जमा, विभिन्न बैंक खातों में 17,25,058 रुपये भी जब्त किये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *