शिक्षक।

शिक्षकों को नौकरी बचाने के लिए मिलेंगे पांच मौके, तीन ऑनलाइन और दो ऑफलाइन एग्जाम देने होंगे, एक में पास करना होगा

तीन ऑनलाइन और दो ऑफलाइन परीक्षाएं होंगी, नियोजित शिक्षकों को 5 मौके मिलेंगे, किसी एक में पास होने पर राज्यकर्मी का दर्जा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नियोजित शिक्षकों को सक्षमता परीक्षा के लिए पांच मौका देने पर सहमति दे दी है। इसमें तीन ऑनलाइन व दो ऑफलाइन परीक्षाएं होंगी। इससे पहले शिक्षा विभाग ने कहा था कि नियोजित शिक्षकों की तीन बार ऑनलाइन परीक्षाएं ली जाएंगी।

विभाग द्वारा गठित कमेटी ने अनुशंसा की थी कि तीनों बार अनुत्तीर्ण रहने वालों की सेवा समाप्त की जाएगी। इसके विरोध में नियोजित शिक्षकों ने आंदोलन शुरू कर दिया। 13 फरवरी को विधानसभा घेराव का एलान कर दिया। इसके बाद उपमुख्यमंत्री सम्राट चौधरी और शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि सक्षमता परीक्षा पास नहीं करने पर किसी की नौकरी पर खतरा नहीं आएगा। सरकार ने अभी इस पर निर्णय नहीं लिया है। फिर भी आंदोलन जारी रहा।

गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने करीब साढ़े तीन लाख नियोजित शिक्षकों के लिए दो और मौके पर मुहर लगा दी। सक्षमता परीक्षा उत्तीर्ण होने के लिए इनके पास दो बार ऑफलाइन (लिखित) जबकि तीन बार ऑनलाइन परीक्षा में बैठने का अवसर होगा। किसी एक परीक्षा में पास होने पर इन्हें राज्यकर्मी का दर्जा मिल जाएगा। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने प्रेस बयान जारी कर मुख्यमंत्री की सहमति की जानकारी दी।

सक्षमता परीक्षा के लिए अब आवेदन 19 तक

 

पटना। बिहार बोर्ड ने समक्षता परीक्षा 2024 (प्रथम) के लिए आवेदन की तिथि बढ़ा दी है। नियोजित शिक्षक 19 फरवरी तक परीक्षा शुल्क के साथ ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। पहले यह तिथि 15 फरवरी थी। परीक्षा 26 फरवरी से निर्धारित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *