बुरे फंसे तेजप्रताप यादव, पिता लालू से मिलना लगता है भारी पड़ गया 

पटना

राजनीति में सारा खेल टाइमिंग का है। अब टाइमिंग के इसी खेल का शिकार होते दिख रहे हैं पूर्व मंत्री और राजद नेता तेजप्रताप यादव। अपने लालू प्रसाद यादव से रांची मिलने गए तेजप्रताप एक नई समस्या में फंसते दिख रहे हैं। दरअसल तेजप्रताप के खिलाफ रांची में एफआईआर दर्ज करा दी गई है। बताया जा रहा है कि क्वारंटीन के नियमों का पालन नहीं करने और अन्य नियमों को तोड़ने की वजह से उनपर केस दर्ज कराया गया है। 

आपको बता दें कि बुधवार को तेजप्रताप यादव पूर्व सीएम और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से मिलने रांची पहुंचे थे। लेकिन पिता से उनकी मुलाकात गुरुवार को हो पाई थी। वजह यह थी कि तेजप्रताप को कोरोना की जांच से गुजरना पड़ा था। जांच रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही पिता लालू से उनकी मुलाकात संभव हो पाई थी। कोरोना की जांच तो हो गई लेकिन लगता है कि कोरोना प्रोटोकॉल को पूरा नहीं किया गया। 

असल में झारखंड में बाहर से आने पर ई पास लेना पड़ रहा है। इसके अलावा दूसरे प्रदेश से झारखंड में आने पर 14 दिन क्वारंटीन का भी नियम है। बताया जा रहा है कि तेजप्रताप यादव ने इन दोनों ही नियमों का पालन नहीं किया। ये मामले केवल तेजप्रताप यादव के खिलाफ ही नहीं दर्ज हुआ है, बल्कि रांची में उन्हें होटल में ठहराने पर होटल मैनेजर पर भी मामला दर्ज किया गया। 

सीओ प्रकाश कुमार ने चुटिया थाने में तेज प्रताप यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। फिलहाल तेजप्रताप यादव पटना लौट आए हैं। आपको बता दें कि अभी तेजप्रताप के छोटे भाई और पूर्व डिप्सी सीएम तेजस्वी यादव होम आइसोलेशन में हैं। तेजस्वी के साथ के राजद नेता संजय यादव कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इस वजह से तेजस्वी ने खुद को आइसोलेट कर दिया है। अब देखना है कि राजद के तरफ से इस एफआईर पर क्या जवाब दिया जाता है। फिलहाल राजनीतिक प्रतिशोध का आरोप भी लगाना मुश्किल लग रहा है क्योंकि झारखंड में महागठबंधन की ही सरकार है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *