पटना में दिनदहाड़े तड़तड़ाई कार्बाइन, बेउर जेल के पास ही हुई वारदात

पटना

आए दिन आपराधिक वारदातों से थर्रा रहे बिहार की राजधानी पटना एक बार फिर अपराधियों के निशाने पर है। पटना में दिनदहाड़े बेउर जेल के पास ही अपराधियों ने एक प्रॉपर्टी डीलर की हत्या कर दी है। बताया जा रहा है कि हमलावरों ने कार्बाइन से अंधाधुंध गोलियां बरसा ये हत्या की है। इस हमले में तीन और प्रॉपर्टी डीलर घायल बताए जा रहे हैं। बिहार पुलिस हमेशा की तरह इस मामले में भी जांच में जुट जाने का दावा कर रही है।

मारने तो किसी और को आए थे बदमाश
असल में पटना में हुई इस वारदात में निशाने पर कोई और था लेकिन थोड़े से वक्त के फासले ने उनकी जिंदगी बचा ली। दरअसल बदमाशों ने टुनटुन यादव नाम के प्रॉपर्टी डीलर के दफ्तर में हमला बोला था। निशाने पर भी टुनटुन यादव ही थे लेकिन वह कुछ देर पहले ही दफ्तर छोड़कर निकल गए थे। बदमाशों ने वहां टुनटुन को मौजूद न पाकर गुस्से में कार्बाइन का मुंह खोल दिया। इस गोलीबारी में प्रॉपर्टी डीलर राजेश कुमार मारे गए।

आपको बता दें कि टुनटुन यादव पूर्व डिप्टी मेयर अमरावती देवी दीना दोप के रिश्तेदार हैं। पूर्व पार्षद दीना गोप की हत्य़ा हो चुकी है और टुनटुन यादव इस हत्याकांड के मुख्य गवाह हैं। असल मामला न्यू बाइपास पर किसी जमीन के विवाद से जुड़ा बताया जा रहा है। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक रविवार को हुई इस गोलीबारी को 6 अपराधियों ने अंजाम दिया था।

राजधानी में ये हाल, कहां सोई है पुलिस?
दिनदहाड़े गोलियों की तड़तड़ाहट ने पटना पुलिस की कार्यशैली पर भी सवाल खड़े किए हैं। अगर प्रदेश की राजधानी में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं तो आप कल्पना कर सकते हैं कि राज्य के दूसरे हिस्सों का क्या हाल होगा। पटना पुलिस का कहना है कि टुनटुन यादव की शिकायत के आधार पर कार्रवाई की जा रही है।

पुलिस भी शुरुआती जांच में जमीन विवाद के एंगल की तरफ भी इशारा कर रही है। हालांकि एक बड़ा सवाल यह है कि आखिर अपराधियों के अंदर दिन के उजाले में ऐसी वारदात करने का हौसला कहां से आ रहा है। बिहार पुलिस का खौफ अपराधियों पर क्यों नहीं चढ़ रहा है। साफ है कि कहीं न कहीं कोई लापरवाही हो रही है इसीलिए पटना खौफ के साए में जीने के लिए मजबूर नजर आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *