दुल्हन शादी से इनकार के बाद घर के भीतर चली गई तो दूल्हा देर तक विवाह मंडप में बैठा रहा। इंतजार करता रहा। Image Source : Live Jharkhand

7 फेरे लिये, सिंदूरदान से पहले दुल्हन रोने लगी तो पिता बोले- बेटी को लड़का पसंद नहीं, शादी कैंसिल

पटना : रांची में एक फिल्मी ड्रामा बीच शादी मंडप पर दिखा। यहां सात फेरे लेने के बाद लड़की रूठ गई। रोने लगी कि लड़का अच्छा नहीं, उसे पसंद नहीं। ठीक सिंदूरदान से पहले इकलौती लड़की के यूं रूठ जाने और रोने लगने से पिता का दिल पसीज गया और उसने शादी को खत्म करा दिया। कहा- मेरी बेटी है, उसे दूल्हा पसंद नहीं, अगर उसने पहले मुझे बताया होता तो यह नौबत ही नहीं आती लेकिन अभी भी बताया है तो मैं उससे जबरदस्ती नहीं करूंगा, उसे उम्रभर रोने नहीं दूंगा, अब तो शादी नहीं होगी। लड़की के पिता का इतना कहना था कि लड़केवाले भड़क गये। अपनी इज्जत हुज्जत की दुहाई देने लगे। पर लड़की का पिता टस से मस न हुआ। फिर पैसे और खर्च को लेकर दूल्हा पक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया और अंतत पुलिस की इन्ट्री भी हुई। पर अंत में दूल्हे को बिना दुल्हन के ही लौटला पड़ा।

रांची के धुर्वा में यह पूरा ड्रामा मंगलवार रात को हुआ। बारात समय से पहुंची। छेका पहले ही हो चुका था। जयमाला के बाद दुल्हन-दुल्हन ने विवाह मंडप में सात फेरे भी लिये। जब सिंदूरदान की बेला आई तो अचानक मंडप में बैठी दुल्हन खड़ी हो गई और शादी से इनकार कर दिया। उसने कहा- मुझे लड़का पसंद नहीं है। यह कहकर वह अपने घर के भीतर चली गई। लड़की के इनकार के बाद वर-वधू पक्ष में हड़कंप मच गया। दूल्हे के पिता और बाराती इस बात पर अड़ गये कि ऐसे थोड़े न होता है। यदि लड़की शादी नहीं करेगी तो अब तक हुआ हमारा पूरा खर्च भुगतान करना होगा। हंगामे की सूचना मिली तो पुलिस पहुंची।
दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद पुलिस के समझाने पर वर पक्ष बारात के साथ लौट गया। विनोद लोहरा की शादी धुर्वा की लड़की चंदा से होनी थाी। बारात जब मौसीबाड़ी पहुंची तो सारी रस्में हुईं। देर रात सभी अनुष्ठान के बाद दूल्हा-दुल्हन ने सात फेरों की रस्म भी निभाई, लेकिन सिंदूरदान के वक्त लड़की ने विवाह से इनकार कर दिया। दूल्हन के माता-पिता से बताया कि उसे लड़का पसंद नहीं है, इसलिये उसने शादी से मना कर दिया है। उसकी इकलौती बेटी है, इसलिये वे जबरदस्ती नहीं कर सकते। यह बात उसने पहले नहीं बताई, नहीं तो वे लोग पहले ही लड़केवालों को मना कर देते।
पुलिस ने बताया कि देर रात शादी समारोह में हंगामे की सूचना मिली तो दल-बल के साथ हम वहां पहुंचे। दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर शांत कराया गया। शादी के लिये दबाव नहीं डालने की बात कहने पर वर पक्ष लौट गया। दोनों पक्ष की ओर से कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *