अफगानिस्तान के पूर्व संचार और प्रौद्योगिकी मंत्री सैयद अहमद सादात जर्मनी में डिलिवरी ब्वॉय का काम करते हुये। Image Source : tweeted by @AJArabic

पूर्व अफगान IT मंत्री जर्मनी में डिलिवरी ब्वॉय बने, ऑक्सफोर्ड की 2 डिग्री पर नौकरी नहीं मिली

New Delhi : अफगानिस्तान के पूर्व संचार और प्रौद्योगिकी मंत्री सैयद अहमद सादात जर्मनी में डिलिवरी ब्वॉय का काम करके अपना जीवन यापन कर रहे हैं। अल जजीरा न्यूज नेटवर्क ने उनकी स्टोरी की है। इस स्टोरी के मुताबिक अफगान के पूर्व मंत्री जर्मन शहर लीपज़िग में साइकिल पर खाने के ऑर्डर देने के पेशे में शामिल हो गये हैं। वे 2020 के अंत में अपने पद से इस्तीफा देने के बाद जर्मनी के इस शहर में पहुंचे थे। अफगानिस्तान में तालिबान के खूनी एजेंडे के डर से अफगानिस्तान के पूर्व मंत्री सैयद अहमद शाह सादात ने पिछले साल देश को छोड़ दिया था। लीपज़िगर वोक्सज़ितुंग अख़बार की एक रिपोर्ट के मुताबिक सादात जर्मन शहर लीपज़िग में फ़ूड डिलीवरी ब्वॉय के तौर पर काम कर रहे हैं। वह अपनी साइकिल पर शहर में घूमते हैं और घर-घर खाना पहुंचाते हैं।

अदत 2018 तक अफगान सरकार में मंत्री थे। वह जर्मनी चले गये लेकिन कुछ महीनों के बाद, सादात के पास पैसे नहीं थे और उन्हें आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ा। एक रिपोर्ट के अनुसार, वह अफगानिस्तान में संचार संबंधी मुद्दों पर मदद करने के लिये वहां गये थे, लेकिन अशरफ गनी के साथ मतभेदों के कारण इस्तीफा दे दिया था। सादात ने कहा- फिलहाल मैं बहुत सादा जीवन जी रहा हूं। मैं जर्मनी में सुरक्षित महसूस करता हूं। मैं लीपजिग में अपने परिवार के साथ रहकर खुश हूं। मैं पैसे बचाना चाहता हूं और जर्मन कोर्स करना चाहता हूं और आगे पढ़ना चाहता हूं।
उन्होंने आगे कहा- मैंने कई नौकरियों के लिये आवेदन किया लेकिन कोई जवाब नहीं आया। मेरा सपना एक जर्मन टेलीकॉम कंपनी में काम करने का है। अफगानिस्तान के पूर्व संचार मंत्री के पास ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी से दो मास्टर डिग्री हैं। एक इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग में और दूसरी संचार में। सादात ने 13 देशों में 20 से अधिक संचार-संबंधित क्षेत्रों में काम किया है। उन्हें संचार के क्षेत्र में काम करने का 23 साल का अनुभव है।
बहरहाल तालिबान ने मंगलवार को अपनी अंतरिम सरकार के कई मंत्रियों की घोषणा की। खास बात यह है कि संगठन ने कभी तालिबान के कट्टर विरोधी गुल आगा शेरजई को वित्त मंत्री नियुक्त किया है। शेरजई कंधार और फिर नंगरहार के पहले राज्यपाल थे। तालिबान ने मुल्ला सखउल्लाह को कार्यवाहक शिक्षा मंत्री और अब्दुल बारी को उच्च शिक्षा मंत्री नियुक्त किया है। सदर इब्राहिम को अंतरिम गृह मंत्री बनाया गया है। वहीं मुल्ला शिरीन को काबुल का गवर्नर और हमदुल्ला नोमानी को काबुल का मेयर बनाया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *