एक्सप्रेस-वे की डमी फोटो। प्रतीकात्मक इस्तेमाल।

पटना से सोनपुर-मानिकपुर-केसरिया होते अरेराज तक फोरलेन, दीघा में जेपी सेतु के पैरेलेल नया पुल

Patna : केंद्र सरकार से बिहार को सड़कों का जाल बिछाने के लिये एक लाख करोड़ की योजनाओं की सौगात मिली है। इसके तहत भारतमाला प्रोजेक्ट में पटना से सोनपुर-मानिकपुर-साहेबगंज-केसरिया होते अरेराज तक फोरलेन हाईवे बनेगा। इस एलाइनमेंट को केंद्र सरकार नेशनल हाईवे के रूप में शीघ्र अधिसूचित करेगी। इसी एलाइनमेंट में दीघा में जेपी सेतु के समानांतर एक फोरलेन पुल बनेगा। सोनपुर से मकेर-तरैया-राजापट्‌टी-बैकुण्ठपुर-डुमरिया तक नये फोरलेन हाईवे बनाने के लिये पथ निर्माण विभाग अभी कार्रवाई कर रहा है। इस एलाइनमेंट पर भी फोरलेन बनाने की समीक्षा की जा रही है। जेपी सेतु के समानांतर करीब साढ़े चार किमी लंबाई में फोरलेन केबल ब्रिज बनाने की परियोजना से उत्तर बिहार से कलेक्टिविटी और बेहतर हो सकेगी।

नया पुल दीघा-एम्स एलिवेटेड रोड के साथ जुड़ेगा। वहीं, दूसरी छोर पर सोनपुर के पहलेजा घाट (हाजीपुर-छपरा एनएच) सड़क से जुड़ेगा। बाहर से पटना के पश्चिमी इलाके में आने-जाने वाले लोगों के लिये भी यह पुल काफी सुविधाजनक होगा। पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने मंगलवार को नितिन गडकरी से मुलाकात के बाद कहा – पटना से वैशाली होते हुये अरेराज तक एनएच पर सहमति बनी है। बिहटा और कोईलवर के बीच 7 किलोमीटर सिक्सलेन सड़क का निर्माण होगा। यह बिहटा एयरपोर्ट के पास का ही एरिया है। इसमें भी अलग से सिक्स लेन सड़क बनाने की सहमति मिली है। इसके अलावा और भी जहां एनएचएआई के तहत सड़क निर्माण में समस्या थी उन सबका समाधान निकाला गया है।
नितिन नवीन ने कहा – केंद्रीय मंत्री ने महेशखूंट से पूर्णिया राष्ट्रीय राज मार्ग का कार्य जल्द शुरू कराने का दिया निर्देश दे दिया है। राज्य सरकार अगले चार साल में चार पुल बनानी की तैयारी में जिसमें कुल 24 लेन होंगी। वर्तमान में गंगा के दूसरे पार से पटना आने जाने के लिये सिर्फ 6 लेन के पुल हैं जिनमें 4 लेन पर ही गाड़ियों की आवाजाही हो रही है। पटना में गंगा पर चालू पुल में दो लेन दीघा का जेपी सेतु और दो लेन गांधी सेतु के पूर्व हिस्से शामिल हैं। वहीं गांधी सेतु के एक हिस्से की दो लेन पर अभी मरम्मत कार्य चल रहा है। सरकार की नई योजना के तहत 24 लेन पुल बनाने के लिये राजधानी के पथ निर्माण विभाग ने इस पर काम भी शुरू कर दिया है।
पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा- औरंगाबाद-पटना-दरभंगा एनएच (189 किलोमीटर) का निर्माण भी 7500 करोड़ की लागत से होना है। इसके लिये शीघ्र टेंडर करने का निर्णय किया गया है। इसके भू-अर्जन का काम तेजी से चल रहा है। पटना-गया-डोभी एनएच के हिस्से के रूप में सरिस्ताबाद से नाथोपुर (2.8 किलोमीटर) तक विकसित करने का निर्णय किया है। सिमरिया में बन रहे नये 6 लेन मोकामा की तरफ एप्रोच रोड की समस्या दूर करने का आग्रह किया गया। नवीन ने बताया कि पीएम पैकेज की करीब 20 हजार करोड़ की 7 योजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन के लिए केन्द्रीय मंत्री से आग्रह किया गया जिस पर उन्होंने सितंबर महीने में अपना समय देने की सहमति जताई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *