गौतम गंभीर को झटका, बीजेपी ने नहीं दिया दोबारा लोक सभा का टिकट, मनोज तिवारी को फिर मिला मौका

NEW DELHI :  पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद क्रिकेटर गौतम गंभीर ने सियासत से संन्यास की इच्छा जताई है। उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर अपने राजनीतिक दायित्वों से मुक्ति मांगी है।

गंभीर ने शनिवार को यह जानकारी अपने आधिकारिक सोशल मीडिया हैंडल ‘एक्स’ पर दी है। राजनीतिक को अचानक अलविदा कहने के उनके फैसले को आगामी लोकसभा चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है। पार्टी स्तर पर चर्चा थी कि इस बार उनका टिकट कट रहा है।

वर्ष 2019 में भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़कर सांसद बने गंभीर की राजनीतिक सक्रियता को लेकर अक्सर सवाल उठते रहे। कुछ चुनिंदा अवसर पर ही वह पार्टी की तरफ से चलाए गए अभियानों व धरना प्रदर्शनों में शामिल हुए। स्थानीय स्तर पर पार्टी के अन्य नेताओं के साथ उनके मतभेद भी लगातार सामने आते रहे, जिससे शीर्ष नेतृत्व भी उनसे नाराज बताया जा रहा है। लगातार मिल रही शिकायतों और जमीनी स्तर पर कम होती उनकी सक्रियता के बीच यह तय माना जा रहा है कि इस बार लोकसभा चुनाव में उनका टिकट कट सकता है।

पार्टी से जुड़े लोग बताते हैं कि गौतम गंभीर को साफ अंदेशा हो गया था कि उनका टिकट कटना है। इसलिए उन्होंने चुनाव से अहम पहले अपने राजनीतिक दायित्व से अलग होने का फैसला लिया। पार्टी की तरफ से उनसे बातचीत भी की जा रही है। सूत्रों का कहना है कि आगामी लोकसभा प्रत्याशी के लिए दिल्ली भाजपा की तरफ से केंद्रीय चुनाव सीमित को पूर्वी दिल्ली सीट के लिए प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा और प्रदेश इकाई में महामंत्री हर्ष मल्होत्रा के नाम प्रस्तावित किए हैं।

स्थानीय विधायक के साथ हुआ था विवाद

बीते वर्ष एक कार्यक्रम के दौरान सांसद गौतम गंभीर का स्थानीय विधायक ओपी शर्मा के साथ विवाद हुआ था। इस घटना के बाद दिल्ली भाजपा से जुड़े एक वर्ग ने सांसद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। शीर्ष नेतृत्व से मामले में शिकायत भी की थी। घटना के बाद स्थानीय विधायक ने कहा था कि सर्वसमाज के सम्मेलन में सांसद ने उनकी साथ तीखे शब्दों का इस्तेमाल किया।

प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को धन्यवाद दिया

गंभीर ने सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय अध्यक्ष को टैग करते हुए लिखा, ‘मुझे राजनीतिक दायित्वों से मुक्त करें, जिससे कि मैं क्रिकेट से जुड़े अपने कार्यों पर ध्यान दे सकूं। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री आमित शाह को धन्यवाद देना चाहता हूं, जिन्होंने मुझे लोगों की सेवा करने का मौका दिया।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *