मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। Image Source : tweeted by @IPRD_Bihar

तटों पर जा सीएम ने लिया गंगा के रौद्र रूप का जायजा, अफसरों से कहा- देखो कहीं चूक न हो

Patna : बिहार की राजधानी पटना में भी गंगा नदी के प्रचंड रूप से कहर बरपा रही है। यहां गंगा खतरे के निशान से 129 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। इस बीच गंगा नदी के घाटों पर बढ़ते खतरे का जायजा लेने बुधवार को सीएम नीतीश कुमार खुद पटना के गंगा घाट पहुंचे। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने शहर के सभी प्रमुख गंगा घाटों का निरीक्षण किया। सीएम नीतीश कुमार ने सबसे पहले पटना मुख्य नहर के दीघा तालाब का निरीक्षण किया। इसके बाद सीएम नीतीश कुमार भद्राघाट, कंगन घाट और फिर गांधी घाट पहुंचे। सभी जगहों पर सीएम नीतीश ने गंगा के बढ़ते जलस्तर का जायजा लिया। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश भी दिये। मुख्यमंत्री ने उन स्थानों पर फोकस करने के लिये कहा जहां साल 2016 में बाढ़ के हालात बने थे और परेशानी हुई थी।

सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों से कहा कि जहां गंगा नदी के किनारे घनी आबादी है, वहां पर ज्यादा फोकस किया जाये। पब्लिक को कोई नुकसान न हो इसका विशेष ख्याल रखा जाये। यदि गंगा नदी से पानी का रिसाव हो रहा है तो उसे तत्काल रोका जाना चाहिये। इससे उबरने के उपाय भी खोजें। सीएम नीतीश कुमार ने यह भी कहा कि पटना में गंगा नदी के जिन घाटों में पानी ज्यादा आया है, उन जगहों पर बैरिकेडिंग करवाएं। इस दौरान सीएम नीतीश कुमार, जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा, प्रमुख सचिव दीपक कुमार और पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह सहित सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
बाद में पत्रकारों से बात करते हुये सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि गंगा नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। गंगा नदी का जलस्तर और बढ़ने की आशंका है। इसको लेकर कल हमारी बैठक हुई थी। बैठक में जलस्तर की पूरी जानकारी दी गई। वहीं आज हमने अधिकारियों की मौजूदगी में व्यक्तिगत रूप से गंगा नदी के आसपास के विभिन्न घाटों का निरीक्षण किय। वहीं सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि साल 2016 में जैसे-जैसे गंगा नदी का जलस्तर बढ़ा, उससे निपटा गया। अब हमने अधिकारियों से उसी तरह की तैयारी कर इससे निपटने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *