मुश्किल में लालू के लाल : हाईकोर्ट ने तेजप्रताप यादव से चुनाव प्रक्रिया से खिलवाड़ पर मांगा जवाब

पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के परिवार की मुश्किलें बढ़ती ही जा रहीं हैं। अब लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव के विधायक बनने की वैद्यता को हाईकोर्ट में चुनौनी दी गई है। हसनपुर विधायक तेजप्रताप के निर्वाचन की वैद्यता के खिलाफ याचिका दायर हुई है। इस हाईकोर्ट ने उठाए गए बिंदुओं पर जवाब मांगा है। पटना हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति वीरेंद्र कुमार की एकलपीठ ने विजय कुमार यादव की याचिका पर सुनवाई की है। अपनी याचिका ने विजय यादव ने आरोप लगाया है कि तेजप्रताप ने नामांकन पत्र में संपत्ति की सही जानकारी नहीं दी है। इस पर हाईकोर्ट ने तेजप्रताप को नोटिस भेजकर इस पर जवाब मांगा है। तेजप्रताप के अलावा जदयू विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल के निर्वाचन को भी चुनौती दी गई है। इनके खिलाफ विपिन कुमार उर्फ विपिन मंडल ने याचिका दायर की है। याचिका में विपिन ने बताया कि निर्वाचन पदाधिकारी ने अवैध तरीके से उनका नामांकन रद्द किया था। इस पर कोर्ट ने गोपाल मंडल को नोटिस भेजा है। इन दोनों मामलों की सुनवाई अब आठ अप्रैल को होगी।

तेजस्वी खुद को बेदाग साबित करें : सुशील मोदी
इधर, लालू प्रसाद के छोटे बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पर राज्यसभा सांसद और सूबे के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने निशाना साधा है। सुशील ने कहा कि माल, मिट्‌टी घोटाला और करोड़ों की बेनामी संपत्ति बनाने के आरोप में घिरे तेजस्वी केंद्रीय एजेंसियों पर आरोप या टिप्पणी करने से पहले खुद के बेदाग होने का सबूत दें। सुमो ने कहा कि अगर, जांच एजेंसियां पक्षपात कर रही है तो सुप्रीम कोर्ट में उनको चुनौती देना चाहिए। सांसद ने कहा कि लालू और राबड़ी ने अपने बच्चों को दिल्ली, जमशेदपुर के बड़े संस्थानों में दाखिल करवा दिया और गरीब-गुरबों के बच्चों को चरवाहा विद्यालय भेजा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *