शहीद सपूत की फोटो। Image Source : tweeted by @TejYadav14

शहीद सपूत ऋषि की शहादत को याद रखेगा हिंदुस्तान, सारे नेता, सांसद, मंत्री, सीएम ने किया नमन

Patna : कश्मीर में शहीद हुये लेफ़्टिनेंट ऋषि रंजन के पैतृक आवास पर नेताओं और मंत्रियों का काफिला लग गया है। सारे नेता, पार्टी उनको नमन कर रहे हैं। उनके परिजनों को सांत्वना देने के लिये पहुंच रहे हैं। बेगूसराय का शोकाकुल प्रोफेसर कॉलोनी में सैकड़ों की भीड़ उनके आवास के सामने है, लेकिन उसमें भी सन्नाटा पसरा है।
पूरा बेगूसराय उनकी शहीदी पर आंसू बहा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर अपना दुख व्यक्त करते हुये कहा है – उनकी शहादत को देश याद रखेगा। ईश्वर से यही कामना करता हूं कि दुख की इस घड़ी में वीर सपूत शहीद के परिजनों को यह दुख सहने की शक्ति प्रदान करे। शहीद लेफ़्टिनेंट ऋषि रंजन का पुलिस सम्मान के साथ राज्य सरकार की ओर से अंतिम संस्कार किया जायेगा।

 

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह उनके आवास पर गये और उनके परिजनों को ढांढस बढ़ाया। उन्होंने ट‍्वीट किया- लखीसराय के पिपरिया के मूल निवासी व बेगूसराय में बसे राजीव रंजन जी के लेफ़्टिनेंट पुत्र ऋषि रंजन जम्मू कश्मीर में शहीद हो गये हैं। यह पूरे परिवार व क्षेत्र के लिए बहुत पीड़ा दायक है, उनकी बहादुरी को सलाम। ईश्वर परिवार को इस दुख को सहने की शक्ति दे। ॐ शान्ति।
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट‍्वीट किया- बिहार के बेगुसराय निवासी लेफ़्टिनेंट ऋषि रंजन जी जम्मू कश्मीर में शहीद हो गए। देश उनके बलिदान को सदैव याद रखेगा। ईश्वर से उनके परिजनों को दुख सहने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूँ।
राजद नेता तेज प्रताप ने ट‍्वीट कर कहा- महज़ 23 वर्ष का बिहारी नौजवान लेफ्टिनेंट ऋषि रंजन सिंह मातृभूमि की रक्षा करते हुए कल जम्मू-कश्मीर में शहीद हो गये। बेगूसराय का इस शेर बेटे की शहादत को राजद परिवार की तरफ़ से कोटि-कोटि नमन।
सांसद राकेश सिन्हा ने टृवीट किया- बिहार में बेगूसराय के श्री राजीव रंजन जी का पुत्र लेफ़्टिनेंट ऋषि रंजन जी आतंकियों से सामान्य लोगों और संप्रभुता को बचाने में शहीद हुये। भारत मां के सपूत को सादर नमन।

जम्मू कश्मीर में शहीद बिहार के सपूत लेफ़्टिनेंट ऋषि रंजन अपनी बहन की शादी में 22 नवंबर को बेगूसराय के प्रोफेसर कॉलोनी स्थित आवास पर पहुंचनेवाले थे। उनकी बहन की शादी 29 नवंबर को तय थी। लेफ़्टिनेंट ऋषि रंजन की यह पहली पोस्टिंग थी।
रक्षा प्रवक्ता के अनुसार, लेफ्टिनेंट ऋषि रंजन और कांस्टेबल मंजीत सिंह शहीद हो गये। ऋषि रंजन बिहार के बेगूसराय जबकि मंजीत पंजाब के बठिंडा जिले के सिरवेवाला गांव के रहने वाले थे।
लेफ्टिनेंट ऋषि रंजन की शहादत की सूचना मिलते ही बेगूसराय में मातम छा गया है। बेगूसराय जिला मुख्यालय स्थित प्रोफेसर कॉलोनी निवासी राजीव रंजन के बेटे ऋषि एक साल पहले ही लेफ़्टिनेंट बनकर कश्मीर गये थे। वह मूल रूप से लखीसराय के पिपरिया के रहने वाले थे, लेकिन कई दशक पहले से जीडी कॉलेज के पास पिपरा रोड में रह रहे। उनके दादा रिफाइनरी में काम करते थे, जिसके कारण परिवार यहां बस गया।
लेफ़्टिनेंट की शहादत खबर मिलते ही परिवार में कोहराम मच गया। शहीद के पिता राजीव रंजन ने बताया कि करीब साढ़े सात बजे फोन पर सूचना मिली। पिता ने यह भी कहा कि उसने 4 दिन पहले मां से बात की थी और कहा था कि बहन की शादी के लिये छुट्टी ले ली है।
इकलौते बेटे की मौत से माता-पिता बेसुध हैं। ऋषि अपनी दो बहनों का इकलौता भाई था और अपने पिता के दो भाइयों का इकलौता चिराग था।

 

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि नौशेरा सेक्टर राजौरी जिले के अंतर्गत आता है जो जम्मू में पीरपंजाल क्षेत्र का हिस्सा है जहां पिछले तीन हफ्तों से सेना का अभियान चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *