दुश्मन देश के लोगों को ऑक्सीजन दे बचाई जान, पूरी दुनिया कर रही भारतीय सेना को सलाम

पटना
बहुत पहले मशहूर शायर इकबाल लिख गए थे कि ‘ यूनान-ओ- मिस्र-ओ- रोमा, सब मिट गए जहाँ से, अब तक मगर है बाकी, नाम-ओ-निशाँ हमारा, कुछ बात है कि हस्ती, मिटती नहीं हमारी। सदियों रहा है दुश्मन, दौर-ए-ज़माँ हमारा।’ आखिर ये हस्ती मिटी क्यों नहीं। इसका जवाब है हमारे देश के रणबांकुरे। जो आया उसको धूल चटाया लेकिन दुश्मन देश के कमजोरों को गले भी लगाया। वैसे तो ऐसे ढेरों किस्से हैं जो भारतीय सेना को दुनिया में सबसे खास बनाते हैं लेकिन आज एक ऐसा किस्सा हुआ है जिसने एक बार फिर भारतीय सेना को चर्चा में ला दिया है।

असल में मामला दुश्मन देश चीन के नागरिकों से जुड़ा हुआ है। भारतीय सेना ने नॉर्थ सिक्किम में 17500 फीट की ऊंचाई में रास्ता भटक गए चीनी नागरिकों की जान बचाई है। भारतीय सेना की वजह से आज चीन के 3 नागरिक सांस ले पा रहे हैं। ये मामला 3 सितंबर का बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक चीन के ये नागरिक जीरो से भी नीचे के तापमान में रास्ता भटक गए थे। ऐसे में भारतीय सेना ने उन्हें ऑक्सीजन, गरम कपड़े, खाना और मेडिकल सहायता मुहैया कराई। यही नहीं सेना ने उन्हें सही रास्ते पर भी पहुंचाया ताकि वो अपनी मंजिल पर पहुंच सकें।

Indian Army rescued 3 Chinese nationals who lost their way in North Sikkim's plateau area at 17,500 ft altitude on 3…

Posted by Priyabhanshu Ranjan on Saturday, September 5, 2020

 

भारतीय सेना ने भारत की हजारों साल पुरानी उस परंपरा को कायम रखा जिसमें हम दुश्मन देश के लोगों से भी प्रेम से पेश आते रहे हैं। आपको बता दें कि अभी भारत और चीन के मध्य काफी तनाव चल रहा है। तिब्बत की सीमा पर जंग के हालात हैं। भारत ने चीन की गुस्ताखियों का जवाब देने के लिए बड़े पैमाने पर सेना और आधुनिक हथियारों की तैनाती कर दी है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को चीनी रक्षा मंत्री जनरल वेई से मुलाकात की है। ये मुलाकात मास्कों में शंघाई सहयोग संगठन की बैठक के बाद हुई है। इस मुलाकात में राजनाथ सिंह ने चीन को आगाह कर दिया है कि भारत अपनी सीमा की रक्षा के लिए किसी भी हद तक जा सकता है। राजनाथ सिंह ने चीन से स्पष्ट कहा है कि उसकी सेना द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन कर रही है और आक्रामकता दिखा रही है। जरूरत पड़ी तो इसका माकूल जवाब दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *