बेगूसराय में दिलचस्प ढंग से हुई पकड़ौआ शादी- मंदिर और थाने में हुई शादी, पुलिसवाले बने गवाह

Patna : बेगूसराय में लड़के को जबरदस्ती उठाकर शादी कराने के किस्से तो बेहद आम है, लेकिन ऐसी शादी में पुलिस भी पार्टी बनी हो ऐसा कम ही होता है। लेकिन आज ऐसा हुआ जिसे जान हर कोई अचरज कर रहा है। यही नहीं बेटे की शादी में ज्यादा से ज्यादा दहेज वसूलने की लालसा पर भी पानी फिर गया। दहेज पाने के लिये लड़केवाले शादी में टालमटोल कर रहे थे और लड़कीवालों को भी इसकी भनक लग ही गई। इसके बाद जो हुआ वो किसी फिल्मी कहानी जैसा ही लगता है। लड़कीवालों ने बेगूसराय में दहेज के लिये 2 साल से तय शादी से जब लड़के वाले आनाकानी करने लगे तो दूल्हे को ही उठवा लिया। इसके बाद मंदिर में जबरन शादी कराने लगे। लेकिन इसके बाद की कहानी बेहद दिलचस्प है क्योंकि इसके बाद पुलिस की इंट्री हुई और फिर ढेर सारा इमोशन शामिल हुआ इसमें ड्रामे के साथ।
दरअसल मंदिर में शादी होती इससे पहले ही इसी बीच फिल्मी स्टाइल में दूल्हे ने मोबाइल से पुलिस को पूरे घटना की सूचना दे दी। फिर क्या था, पुलिस भी तड़के मंदिर में पहुंची और तत्काल शादी रुकवाई। इसके बाद दूल्हे-दुल्हन को पुलिस थाने ले आई। इसके बाद फुल एक्शन और ड्रामा के साथ संपन्न हुई इस शादी की चर्चा पूरे इलाके में है। हालांकि ये पकड़ौआ विवाह की एक कोशिश थी, लेकिन पुलिस ने दोनों पक्षों में मेलजोल करवाया। इसमें पुलिस को बेहद मशक्कत करनी पड़ी लेकिन अंत में रजामंदी से शादी करवा दी।
लड़कीवालों ने बताया कि तेघड़ा थाना क्षेत्र के बनहारा गांव के रहने वाले शिवम कुमार और बिहट खेमकरणपुर पूर्वी टोला के रहने वाले यदुनंदन सिंह की पुत्री प्रिया भारती की शादी 2 सालों से तय थी। लेकिन दहेज के लालच में लड़के वाले शादी टाल रहे थे। इसलिए हम लोगों को उनके पास बार-बार गिड़गिड़ाना पड़ता था, फिर भी वे नहीं मान रहे थे। थानाध्यक्ष हिमांशु कुमार सिंह ने बताया अपहरण के बाद लड़के की मंदिर में शादी की बात खुद शुभम ने मोबाइल से बताई थी। इसके बाद पुलिस एक्शन में आई और बनहारा गांव स्थित शिव मंदिर में हो रही शादी रुकवाई। इसके बाद दोनों पक्षों को बुलाया गया और रजामंदी के बाद दूल्हा-दुल्हन ने थाने में ही सात फेरे लिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *