वेबसिरीज जामताड़ा के पोस्टर की प्रतीकात्मक तस्वीर। साथ में एसपी जया रॉय की फाइल फोटो।

जामताड़ा में साइबर ठगों का संजाल तोड़नेवालीं IPS जया राय के पिता से 6 लाख की ठगी, अब बेचारी पुलिस

Patna : पूरे देश में साइबर क्राइम में अपना नाम बदनाम कर चुका जामताड़ा फिर से सुर्खियों में है। इस बार साइबर ठगों ने एनआईए की एसपी जया राय के पिता को 6 लाख का चूना लगाया है। इसमें खायह यह है कि यह वही जया राय है जिसने जामताड़ा में अपनी दो साल की पोस्टिंग के दौरान साइबर ठगों के संजाल को तहस नहस कर दिया था। उनके कार्यकाल के दौरान जामताड़ा में 157 साइबर ठगों को गिरफ्तार किया था। उनके पिता डॉ. एनआर राय से अब साइबर ठगों ने 6 लाख रुपये की ठगी कर ली है। डॉ. राय की लिखित शिकायत के बाद केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस की साइबर सेल के अधिकारियों ने कार्रवाई शुरू कर दी है। डॉ. राय ने बैंक मैनेजर से मिलकर अपने बैंक खाते को ब्लॉक करा दिया है। जया राय वर्ष 2016 से 2018 तक जामताड़ा की एसपी रहीं।

जया राय ने अपने 23 माह के कार्यकाल में वर्ष 2017 में 74 और 2018 में 83 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया था। उसी समय जामताड़ा साइबर थाना भी खोला गया था। आज तक सबसे अधिक साइबर ठगों की गिरफ्तारी जया राय के कार्यकाल में हुई थी। उस समय स्थिति यह थी कि जामताड़ा से देशभर में होने वाली ठगी के मामले काफी कम हो गये थे। इधर, एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने बताया कि साहिबगंज में साइबर थाना नहीं होने के कारण जांच में परेशानी हो रही है। इसलिये यह केस जामताड़ा साइबर थाने में ट्रांसफर किया जा सकता है।
एनआईए एसपी डॉ. जया राय के पिता डॉ. एनआर राय ने प्राथमिकी में कहा है कि पांच-छह दिनों से उनका मोबाइल ब्लॉक कर दिया गया था। बार-बार मैसेज आ रहे थे कि अनब्लॉक करने के लिये इस नंबर पर फोन करें। मंगलवार सुबह फिर मैसेज आने के बाद जब उन्होंने उस नंबर पर फोन किया तो मोबाइल नंबर व्यस्त आ रहा था। कुछ देर के बाद में जब उन्होंने दोबारा उस नंबर पर फोन किया तो बात हुई। डॉ. राय के अनुसार, जब उन्होंने उधर से मोबाइल पर बात कर रहे व्यक्ति को बताया कि उनका मोबाइल नंबर ब्लॉक कर दिया गया है। इस पर उस व्यक्ति ने कहा कि गूगल ऐप पर जाइये।
इसके बाद जैसे-जैसे वह बताता गया, वे वैसा ही करते चले गये। इसके बाद उनसे 10 रुपये ऑनलाइन पेमेंट करने को कहा गया तो उन्होंने पेमेंट कर दिया। इसके बाद कुछ-कुछ देर के अंतराल में उनके मोबाइल नंबर पर सात बार राशि निकासी के मैसेज आये। इस दौरान कुल 5.90 लाख रुपये उनके बैंक खाते से निकाल लिये जाने के मैसेज थे। ये मैसेज देख उनका माथा ठनका। बहरहाल जया राय के पिता के साथ हुई इस घटना ने सबको चौंका दिया है। ऐसी आशंका है कि साइबर ठगों के गैंग ने बदला लिया है। और हालात ऐसे हैं कि पुलिस ने कुछ भी पता कर पाने में असमर्थता व्यक्त कर दी है, क्योंकि साहिबगंज में साइबर थाना नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *