Image Source : PrabhatKhabar

जदयू विधायक गोपाल मंडल का आरोप- डिप्टी सीएम तारकिशोर पैसा वसूलने के लिये भागलपुर आते हैं

Patna : अक्सर विवादों में रहनेवाले जदयू के विधायक गोपाल मंडल ने इस बार नीतीश सरकार पर एटम बम ही पटक दिया है। कभी बार डान्सर के साथ ठुमके लगाते हुये तो कभी किसी को चुनाव में हराने की धमकी देकर पॉपुलर होनेवाले भागलपुर जिले के गोपालपुर से जदयू विधायक गोपाल मंडल ने इस बार उप मुख्यमंत्री ताकिशोर प्रसाद को खरी खोटी सुनाते हुये उन पर गंभीर आरोप भी लगा दिये। उन्होंने डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद के भागलपुर पहुंचने को लेकर बड़ा और विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा- उपमुख्यमंत्री भागलपुर विकास के लिये नहीं, सिर्फ वसूली करने के लिये ही आते हैं। वह उन लोगों के साथ घूमते हैं जिन्होंने भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड को हराने की कोशिश की। वह केवल ‘माल’ लोगों के साथ घूमते हैं।

उन्होंने कहा- उप मुख्यमंत्री सीटों का आश्वासन देकर माल कमा रहे हैं। इसलिए ऐसे लोगों को इस पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं है, जो पार्टी और संगठन के खिलाफ काम करते हैं। मंडल ने उनके इस्तीफे की मांग करते हुये मामले की जांच की मांग की है। डिप्टी सीएम पर विधायक ने आगे कहा- तहसीलदारी बनिया वर्ग से करने लगे हैं। लोजपा के सुरेश भगत पैसा वसूलकर उनको देता हैं। वह अपनी जेब भरने के लिये चंदा इकट्ठा कर रहे हैं न कि पार्टी के लिये। गोपाल मंडल ने इस मामले में लोजपा के पूर्व प्रत्याशी और उपमहापौर राजेश वर्मा के संबंध में कहा- उपमुख्यमंत्री राजेश वर्मा के घर गये थे, वहां खाना खाया। राजेश वर्मा ने उन्हे सोने की एक बड़ी गांठ दी होगी।
नाराजगी जताते हुये मंडल ने कहा- तारकिशोर प्रसाद हमारे क्षेत्र नवगछिया में बाढ़ पीड़ितों से मिलने आये, लेकिन न तो पूछा और न ही हमें बुलाया। पिछली बार भी मैंने उन्हें समझाया था कि अगर आप मुझे ऐसे इग्नोर करके काम करेंगे तो जनता पर इसका बुरा असर पड़ेगा। इस पर उपमुख्यमंत्री ने अपनी गलती मान ली थी, लेकिन इस बार उन्होंने फिर वही किया। गोपाल मंडल ने कहा- भागलपुर आने के बाद उपमुख्यमंत्री रोहित पांडेय से भी नहीं मिले और दिन भर लोजपा नेता के साथ रहे, घूमते रहे और फिर राजेश के घर जाकर खाना खाया। इस मामले को लेकर रोहित ने रोते हुये फोन पर अपना दर्द बयां किया। तब मैंने उनसे कहा कि इस संबंध में आपकी जो स्थिति है, मेरी भी वही स्थिति है।

विधायक ने कहा- भागलपुर आने के बाद उन्होंने केवल उन लोगों से मुलाकात की जो भाजपा और जदयू विरोधी थे। लोजपा के पूर्व उम्मीदवार सुरेश भगत, जिन्होंने बीजेपी के 23 हजार वोट काटे थे। कभी भाजपा के प्रखंड अध्यक्ष रहे संजीव सिंह उर्फ ​​झाबू ने निर्दलीय चुनाव लड़ा और भाजपा के 4500 मतों काटे। प्रवीन भगत, जिला पार्षद सदस्य विपिन मंडल, जो किसी पार्टी के नहीं हैं, ने हमारी पत्नी को हराने का काम किया। उपमुख्यमंत्री ने इन लोगों के साथ बैठक की। इस दौरान न तो हमारी खोज खबर ली और न ही फोन किया। इसलिए जब इतना बड़ा नेता ऐसा काम करने लगे तो उनके इस पद पर बने रहने का कोई औचित्य नहीं है। उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *