जदयू का दांव: सवर्ण प्रकोष्ठ का किया मिलन समारोह, 500 से अधिक लोगों को पार्टी से जोड़ा

पटना : इस विधानसभा चुनाव में भाजपा से कम सीटें जीतने वाला जदयू अपने संगठन को मजबूत करने में जुटा है। अब पार्टी ने सवर्णों को अपने ओर करने के दिशा में एक और कदम बढ़ाया है। शुक्रवार को जदयू सवर्ण प्रकोष्ठ मिलन समारोह का आयोजन किया गया है। इसमें पार्टी ने 500 से अधिक लोगों को पार्टी की सदस्यता दिलाई। साथ ही सभी सदस्यों को ज्यादा से ज्यादा लोगों को संगठन में जोड़ने का टास्क दिया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा किए जा रहे कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने की अपील की। पार्टी के अनुसार राहुल सिद्धार्थ के नेतृत्व में 300, बी मयंक के नेतृत्व में 100 से अधिक और विभिन्न सामाजिक संगठनों से जुड़े 125 लोग जदयू में शामिल हुए। इस दौरान धर्मेंद्र सिंह, राजन कुमार सिंह, जागृति, डॉ. चितेश्वर कुमार, राजीव कुमार सिंह, डॉ. कुमार गौरव, राजशेखर, डॉ. भगवान मिश्र आदि मौजूद रहे।

ललन सिंह बोले-पहली पार्टी, जिसने सवर्ण प्रकोष्ठ बनाया
सांसद और जदयू के वरिष्ठ नेता ललन सिंह ने कहा कि जदयू पहली पार्टी है, जिसे सवर्ण प्रकोष्ठ का गठन किया है। उन्होंने अपील की कि ज्यादा से ज्यादा युवा इस प्रकोष्ठ से जुड़ें और अपनी सहभागिता निभाए। ललन ने लालू-राबड़ी शासनकाल का भी जिक्र किया और कहा कि वह दौर कितना भयावह था।

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जमकर की नीतीश की सराहना
सवर्ण प्रकोष्ठ मिलन समारोह के मुख्य अतिथि और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह सांसद आरसीपी सिंह ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफें की। आरसीपी ने कहा कि नीतीश ने सूबे को तनावरहित विकास का मॉडल दिया है। उनके नेतृत्व में जाति, धर्म और समुदाय के नाम पर कोई तनाव नहीं हुआ। हर जाति, धर्म के लोगों को योजनाओं से जोड़ा गया और उनको लाभांवित किया गया। आरसीपी ने कहा कि इसका बड़ा उदाहरण सात निश्चय योजना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *