मार्बल दुकानदार का बेटा अबू बकर सिद्दीकी बना JEE मैंस का टॉपर, दोनों भाई ने लहराया परचम

जेईई मेन में बिहार टॉपर बने जिले के इकबाल कॉलोनी निवासी अबू बकर सिद्दीकी 10 से12 घण्टे तक स्टडी करते थे। सबसे खाश बात यह है की अबू बकर सिद्दीकी के भाई उमर फारुख को भी इसी सत्र के जेईई मेन में सफलता मिली है। एक साथ दोनो भाईओं ने सफलता का परचम लहराया है । इनके भाई का परसेंटाइल 99.929 है। वही अबू बकर सिद्दीकी मैट्रिक की परीक्षा 97 परसेंट से किशनगंज के स्कूल से ही पास की है। इनके पिता अबुजर आलम मार्बल की दुकान चलाते है।मां नुजहत फातमी गृहणी है। अबू बकर वर्ष 2022 में हिन्दुस्तान ओलंपियाड में टॉपर बने थे।

इन्होंने कोटा से तैयारी की थी। अबू बकर कहते हैं परीक्षा की तैयारी के लिए 10 से 12 घण्टे तक स्टडी करनी चाहिए। बताते है कि मोबाइल आपकी तैयारी में कभी बाधक नहीं बन सकती है। लेकिन आप जरूरत के मेटेरियल के लिए मोबाइल का इस्तेमाल कर सकते हैं।मोबाइल देखने का भी एक समय बना लें।

इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन में 23 उम्मीदवारों ने पूरे 100 अंक हासिल किए हैं। इन में से अधिकतम प्रतिभागी तेलंगाना से हैं। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) ने मंगलवार को यह घोषणा की। बिहार से अबू बकर सिद्दीक स्टेट टॉपर बने हैं। सिद्दीक को 99.9923205 पर्सेटाइल मिला है। सिद्दीकी किशनगंज के रहने वाले हैं। इनके पिता अबूजर आलम किसान हैं।

अबू ने गांव के ही सीबीएसई स्कूल से दसवीं पास किया है। अबू बकर हिन्दुस्तान ओलंपियाड के टॉपर भी रहे हैं। बिहार से परीक्षा में करीब 50 हजार छात्र शामिल हुए थे। सभी बड़े कोचिंग संस्थानों का दावा है कि इनका रिजल्ट बेहतर हुआ है। बिहार से लगभग आठ हजार से अधिक छात्रों को 90 पर्सेटाइल मिला है। इस बार बिहार से एक भी छात्र को 100 पर्सेटाइल नहीं मिला।10 शिफ्टों में हुई परीक्षा में 100 पर्सेंटाइल पर 23 छात्र रहे। मतलब कई शिफ्टों में एक से अधिक छात्रों की 100 पर्सेंटाइल प्राप्त हुआ है। इसमें पहले स्थान पर आरव भट्ट व दूसरे स्थान पर ऋषि शेखर शुक्ला व तीसरे स्थान पर शैक सूरज रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *