कन्हैया कुमार, प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की फाइल फोटो। Image Source : Agencies

कन्हैया बोले – शासन में बैठ लोग झूठ बोलते हैं तो उसे झूठासन कहते हैं, इसकी खोज गप्पू जी ने की है

Patna : वर्ल्ड योगा डे पर आज पॉलिटकल वाद विवाद भी कम नहीं हुआ। इस बार कई राज्यों में भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी दलों के नेता भी इसमें शामिल नहीं हुये। जैसे बिहार में जदयू नेता आज वर्ल्ड योगा डे पर भाजपा नेताओं से बिलकुल अलग दिखे। सरकार की तीसरी सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी तो अपनी लड़ाई में ही सक्रिय है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हनुमान चिराग पासवान की भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दिखी। पारस तो नीतीश कुमार के साथ हैं। ऐसे में गठबंधन के अंदर चल रहे द्वंद्व का आकलन करना ज्यादा मुश्किल नहीं है। यही नहीं सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर भी वर्ल्ड योगा डे की भर्त्सना करनेवालों की कोई कमी नहीं है। पूरे प्लैटफॉर्म पर वर्ल्ड योगा डे के नाम पर जारी दिखावे की आलोचना की जा रही है और कहा जा रहा है कि इसी वजह से लोगों ने इसमें भाग लेना बंद कर दिया है।

इधर भारतीय काम्युनिस्ट पार्टी नेता कन्हैया कुमार ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला बोलते हुये कहा कि वे सिर्फ गप्पबाजी करते हैं। झूठ बोलते हैं। उन्होंने ट‍्वीट किया- एक आसन तो ‘झूठासन’ भी है। शासन में बैठकर लोग जब झूठ बोलते हैं तो उसे झूठासन कहते हैं। इसकी खोज हमारे गप्पूजी ने की है।
हालांकि बिहार में भले इसका बोलबाला नजर नहीं आया हो लेकिन भाजपा शासित राज्यों में इसका खूब बोलबाला रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंटरनेशनल योग दिवस पर कहा- आज मेडिकल साइंस भी उपचार के साथ-साथ हीलिंग पर भी उतना ही बल देता है और योग हीलिंग प्रोसेस में उपकारक है। मुझे संतोष है कि आज योग के इस Aspect पर दुनिया भर के विशेषज्ञ काम कर रहे हैं। योग हमें स्ट्रेस से स्ट्रेंथ और निगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है। योग हमें अवसाद से उमंग और प्रमाद से प्रसाद तक ले जाता है।

हालांकि कांग्रस नेता राहुल गांधी ने इस पर चुटकी लेते हुये ट‍्वीट किया- It’s #YogaDay.Not #HideBehindYogaDay

इससे पहले कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने योगा डे पर अपने एक ट‍्वीट से सनसनी फैला दी। उन्होंने ट‍्वीट किया- ॐ के उच्चारण से ना तो योग ज्यादा शक्तिशाली हो जायेगा और ना अल्लाह कहने से योग की शक्ति कम होगी। उनके इस टॅवीट के बाद कई उन्हें हिंदू विरोधी बताने लगे तो कई राष्ट्रद्रोही। भाजपा नेताओं ने भी कांग्रेस पर हमले शुरू कर दिये। इस बीच सिंघवी ने नया ट‍्वीट किया- श्री राम के नाम पर करोड़ों भक्तों के चंदे की लूट मचाने वाले लोग मेरी आस्था पर सवाल उठा अपनी झेंप मिटा रहे हैं। जान लें कि योग सनातन समय से भारत के कण-कण में है। न तो योग की विद्या को और न ही मेरी आस्था को किसी धूर्त राष्ट्रवादी के सर्टिफ़िकेट की ज़रूरत है। दुष्प्रचार से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *