पुष्पम प्रिया, श्रेयसी… जानें बिहार के वे नेता-नेत्री जिनके जीवनसाथी की तलाश अभी अधूरी

बिहार विधानसभा का चुनाव पूरा हो चुका है। बिहार विधानसभा के चुनाव के दौरान युवा राजनेताओं ने भी खूब दमखम दिखाया है। इनमें से कुछ राजनेताओं को कामयाबी भी मिली है, जबकि कुछ कामयाबी का स्वाद चखने से दूर रह गए हैं। फिर भी इस बात से तो इनकार नहीं किया जा सकता कि इन युवा राजनेताओं ने अब बिहार की राजनीति में अपनी छाप छोड़ दी है और आने वाले समय में इनका जलवा देखने के लिए मिलने वाला है।

तेजस्वी यादव

बिहार में एक नया तेजस्वी यादव उभरा है और वह वो सब कर रहा जो पिछले पांच साल  में नहीं किया

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे हैं तेजस्वी यादव। इससे पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। इस बार के चुनाव में उन्होंने राष्ट्रीय जनता दल को जिताने के लिए हरसंभव कोशिश की। वे अपने लक्ष्य से थोड़ी दूर रह गए। शादी की बात को लेकर उन्होंने कहा था कि जब चिराग पासवान और नीतीश कुमार के बेटे निशांत शादी कर लेंगे तो उसके बाद वे इस बारे में सोचेंगे।

कन्हैया कुमार

जेएनयू राजद्रोह मामला: दिल्ली सरकार ने कन्हैया कुमार पर मुकदमा चलाने की  मंजूरी दी

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष रह चुके कन्हैया कुमार का विवादों से भी नाता रहा है। बिहार की राजनीति में उन्होंने वामपंथी राजनीति से कदम रखा है। सीपीआई के नेता वे बन गए हैं। कन्हैया कुमार भी अब तक कुंवारे हैं। वे बेगूसराय के रहने वाले हैं।

पुष्पम प्रिया चौधरी

पुष्पम प्रिया चौधरी: बिहार की सबसे नई नेत्री, जो सीधे CM बनना चाहती हैं -  Bihar assembly election 2020 pushpam priya chaudhary cm candidate plurals  party development agenda atsn - AajTak

इस बार के विधानसभा चुनाव में पुष्पम प्रिया चौधरी ने अपनी राजनीतिक पार्टी पलूरल्स बनाई और चुनाव भी लड़ा। यही नहीं, उन्होंने खुद को मुख्यमंत्री पद का चेहरा तक घोषित कर दिया। भले ही पुष्पम प्रिया चौधरी की पार्टी चुनाव में कोई खास कमाल नहीं कर सकी, लेकिन सुर्खियां तो इसने जरूर बटोरी। जनता दल यूनाइटेड के विधान पार्षद इनके पिता विनोद चौधरी रह चुके हैं। पुष्पम प्रिया भी अब तक कुंवारी ही हैं। लंदन से उन्होंने अपनी उच्च शिक्षा हासिल की है।

श्रेयसी सिंह

Shooter Shreyasi Singh Joins Bjp, Know About Her Everything - कौन हैं  स्वर्ण पदक विजेता शूटर श्रेयसी सिंह, राजनीति में निशाना साधने भाजपा में  हुईं शामिल - Amar Ujala Hindi News Live

श्रेयसी अंतरराष्ट्रीय स्तर की निशानेबाज हैं। इनके पिता दिग्विजय सिंह पूर्व मंत्री रह चुके हैं। श्रेयसी जमुई से भाजपा की विधायक भी अब बन गई हैं। इनकी उम्र 29 साल की है। फिलहाल इनकी शादी नहीं हुई है। इनकी मां पुतुल सिंह भी सांसद रह चुकी हैं। श्रेयसी ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतना चाहती हैं। बिहार की जनता की सेवा करने का लक्ष्य उन्होंने निर्धारित किया है।

चिराग पासवान

Chirag Paswan called Nitish Kumar the most devout Chief Minister | चिराग  पासवान ने नीतीश कुमार को सबसे भष्ट मुख्यमंत्री बताया - दैनिक भास्कर हिंदी

लोक जनशक्ति पार्टी के मुखिया अब चिराग पासवान ही हैं। उनके पिता रामविलास पासवान ने दुनिया को अलविदा कह दिया है। चिराग पासवान ने भी बिहार विधानसभा चुनाव में बड़ी मेहनत की, लेकिन कोई खास कमाल नहीं कर सके। चिराग पासवान की मां ने कुछ साल पहले बेटे की शादी के बारे में बात तो की थी, लेकिन अब जब चिराग के पिता रामविलास पासवान दुनिया में नहीं रहे हैं, तो उनकी शादी तो फिलहाल होती नहीं नजर आ रही है। विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी को हार मिली है। ऐसे में वे इसे मजबूत करने की कोशिशों में जुटेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *