9 अक्टूबर को बेल के बाद भी लालू जेल में रहेंगे? जानें कहां फंस रहा तकनीकी पेंच

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का बिहार विधानसभा चुनाव से पहले जेल से बाहर आने का ग्राउंड तैयार होता दिखाई दे रहा है। चारा घोटाले से संबंधित चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में रांची हाईकोर्ट में लालू यादव की जमानत अर्जी दायर की गई है, जिसपर शुक्रवार को हाईकोर्ट ने सुनवाई की है। हालांकि लालू यादव को बेल के लिए अभी 26 दिन और इंतज़ार करना होगा।

दरअसल हाईकोर्ट में सज़ा की आधी अवधि को आधार बना कर जमानत अर्जी दायर की गई है। लेकिन अभी लालू की सज़ा की आधी अवधि को पूरा होने में 26 दिनों का समय शेष है। ऐसे में हाईकोर्ट ने सुनवाई को 9 अक्टूबर तक के लिए टाल दिया है। लालू प्रसाद के अधिवक्ता प्रभात कुमार ने जानकारी दी है कि 26 दिन गुजार लेने के बाद लालू यादव को इस मामले में जमानत मिल जाएगी।

हालांकि लालू यादव को जमानत मिलने के बाद भी वे अभी जेल से बाहर नहीं आ सकेंगे क्योंकि उन्हें दुमका कोषागार से अवैध निकासी से जुड़े एक अन्य मामले में सात साल की सजा सुनायी गयी है, जिसकी आधी अवधि अभी पूरी नहीं हुई है। इस मामले में लालू के सज़ा की आधी अवधि अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में पूरी हो रही है।

Lalu yadav will be responsible for selcting rjd mlc candidate| बिहार :  विधान परिषद चुनाव में आरजेडी प्रत्याशियों का लालू यादव करेंगे चयन | Hindi  News, बिहार एवं झारखंड

फिलहाल लालू यादव रांची स्थित बिरसा मुंडा केंद्रीय कारागार में सजा काट रहे है। लेकिन खराब स्वास्थ्य की वजह से अभी उन्हें रांची के रिम्स में भर्ती कराया गया है। जहां उनकी सुरक्षा को देखते हुए उन्हें रिम्स निदेशक के खाली बंगले में रखा गया है।

गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव से पहले लालू यादव के बाहर आने से आरजेडी के हौसले आसमान छूने लगेंगे और यह कहना भी गलत नहीं होगा कि लालू यादव अकेले ही चुनाव के समीकरणों को बदलने की ताकत रखते हैं। इसीलिए विधानसभा चुनाव से पहले लालू के जमानत की अर्जी को काफी अहम माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *