लालू प्रसाद यादव की फाइल फोटो। Image Source : Agencies

लालू की अपील : वर्चुअल बहस न हो चारा घोटाले की, फिजिकल कोर्ट शुरू होने तक स्थगित करें सुनवाई

Patna : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव से जुड़े चारा घोटाले के सबसे बड़े मामले में सीबीआई की ओर से बहस पूरी हो गई है। बचाव पक्ष को तर्क देना शेष है। बचाव पक्ष की दलीलें खत्म होने के बाद मामला फैसले तक पहुंच जायेगा। अगर फैसला लालू के खिलाफ जाता है तो उन्हें जेल भी जाना पड़ सकता है। ऐसे में लालू की तरफ से एक नया दांव चला गया है। चारा घोटाले के सबसे बड़े मामले में डोरंडा राजकोष से 139 करोड़ 35 लाख रुपये की अवैध निकासी के मामले में लालू प्रसाद की तरफ से तर्क दिया गया है कि जब फिजिकल कोर्ट शुरू हो तब इस मामले में आगे की कार्यवाही और बहस शुरू की जाये। तब तक मामले को स्थगित करने की मांग की गई है।

सोमवार को विशेष सीबीआई न्यायाधीश एसके शशि की अदालत में चारा घोटाला मामला संख्या आरसी 47ए/96 में मुकदमे का सामना कर रहे लालू समेत 78 आरोपियों के वकील ने अर्जी दाखिल की। आवेदन करने वालों में पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, डॉ. आरके राणा, लोक लेखा समिति के तत्कालीन अध्यक्ष ध्रुव भगत, पशुपालन विभाग के तत्कालीन क्षेत्रीय निदेशक डॉ. केएन झा, सहायक निदेशक डॉ. केएम प्रसाद और अन्य के आवेदन शामिल हैं।
सीबीआई के विशेष लोक अभियोजक बीएमपी सिंह ने कहा कि बचाव पक्ष ने अर्जी दाखिल करते हुये कहा है कि भौतिक अदालत शुरू होने पर दलीलें शुरू करी जाये। तब तक मामले की सुनवाई स्थगित कर दी जानी चाहिये। वर्चुअल कोर्ट में बहस शुरू करना मुश्किल होगा। कोर्ट ने बचाव पक्ष की अर्जी पर अभियोजन पक्ष को जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। साथ ही मामले की अगली सुनवाई की तारीख 11 अगस्त तय की गई है। बता दें कि 7 अगस्त को अभियोजन पक्ष की चल रही दलीलें पूरी होने के बाद अब बचाव पक्ष को मामले में बहस शुरू करनी है।
इधर, दिल्ली में विपक्ष की राजनीतिक सरगर्मी तेज होती जा रही है और अगुआ बने हैं राष्ट्रीय जनता दल के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव। लालू पिछले कई दिनों से सभी नेताओं को एक मंच पर लाने की कोशिश कर रहे हैं। इस सिलसिले में उन्होंने समाजवादी पार्टी, एनसीपी समेत कई पार्टी के प्रमुखों से मुलाकात की। और आखिरकार सोमवार को लगभग सभी विपक्षी पार्टियां कांग्रेस की डिनर डिप्लोमैसी में शामिल होने के लिये तैयार हो गईं। कपिल सिब्बल के यहां इस मीटिंग की शुरुआत हो गई है। एनसीपी प्रमुख शरद पवार, टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन, राजद प्रमुख लालू प्रसाद, डीएमके के तिरुचि शिवा, राष्ट्रीय लोक दल के जयंत चौधरी, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव, कांग्रेस सांसद शशि थरूर, आनंद शर्मा और अन्य विपक्षी नेता कपिल सिब्बल के आवास पर बैठक के लिये पहुंचे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *