क्या इस बार बिहार में तेजस्वी-कन्हैया मिलकर मचाएंगे धमाल? संकेत तो कुछ ऐसे ही नजर आ रहे

पटना

बिहार विधानसभा चुनाव जैसे जैसे नजदीक आता जा रहा है सूबे में सियासी गर्मी तेजी से बढ़ने लगी है। नए नए सियासी समीकरण भी सामने आ रहे हैं। आज आपको बताते हैं महागठबंधन को लेकर पनप रही एक नई संभावना के बारे में। असल में बिहार चुनाव से ठीक पहले महागठबंधन की रूपरेखा में बड़े बदलावों की आहट मिलनी शुरू हो गई है। एक तो महागठबंधन के अहम हिस्सा रहे जीतनराम मांझी की नीतीश कुमार से करीबी बढ़ने लगी है। इसे महागठबंधन के लिए चुनाव पूर्व एक झटके के रूप में लिया जा रहा है। लेकिन इसी बीच कुछ ऐसे भी राजनीतिक डेवलपमेंट हुए हैं जो महागठबंधन के फायदे में जाते दिख रहे हैं। 

असल में लेफ्ट पार्टियों सीपीआई और सीपीएम ने घोषणा कर दी है कि वे बिहार में चुनावी गठबंधन करेंगी। इस ऐलान के साथ ही एनडीए को हराने के लिए एक नई तरह की राजनीतिक गोलबंदी की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। हालांकि अभी ये स्पष्ट होना बाकी है कि इस महागठबंधन का रूप क्या होगा, इसमें कितनी पार्टियां होंगी, सीटों का बंटवारा कैसे होगा? अगर लेफ्ट पार्टियां बिहार में पहले से मौजूद महागठबंधन का हिस्सा बनती हैं तो ये राजद-कांग्रेस के पक्ष में जाएगा। काडर वोट के ट्रांसफर होने का फायदा महागठबंधन को मिल सकता है। 

इस नई राजनीतिक सुगबुगाहट ने इस बात के भी संकेत दिए हैं कि अगर ऐसा हुआ तो तेजस्वी और कन्हैया को एक ही मंच पर भी देखा जा सकेगा। आपको बता दें कि कन्हैया कुमार ने बेगुसराय की सीट से 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ा था। लेकिन यहां गिरिराज सिंह के हाथों उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। कन्हैया कोरोना लॉकडाउन से पहले बिहार में राजनीतिक रूप से काफी सक्रिय भी दिखे थे। एक तरफ राजद तेजस्वी को नीतीश के सापेक्ष युवा नेतृत्व के रूप में पेश कर रहा है तो वहीं कन्हैया कुमार केंद्र की भाजपा-मोदी सरकार के खिलाफ देशभर में चल रही विपक्ष की राजनीति के पोस्टर बॉय के रूप में उभर कर सामने आए हैं। 

कन्हैया कुमार बिहार में संविधान बचाओ रैली का आयोजन कर काफी जगहों की यात्रा भी कर आए हैं। ऐसे में अगर नीतीश कुमार के चेहरे के सामने दो युवा चेहरे उतरते हैं तो बिहार के इस राजनीतिक घमासान का आनंद और बढ़ सकता है। बताया जा रहा है कि वामदलों की आरजेडी और कांग्रेस के साथ बैठक भी हो चुकी है और इसे लेकर एक आम सहमति बन चुकी है। हालांकि सीटों की संख्या को लेकर कोई खुलासा नहीं किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *