Image Source : tweeted by @bjp4india

मोदी बोले- केदारनाथ में तबाही सबने देखी थी… अब यह दशक उत्तराखंड का है, शान से खड़ा हुआ प्रदेश

New Delhi : प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अगले साल विधानसभा चुनाव से पहले केदारनाथ में 400 करोड़ रुपये से अधिक की पुनर्निर्माण परियोजनाओं की आधारशिला रखी। उन्होंने इस मौके पर कहा- यह दशक उत्तराखंड का होगा। पिछले सौ साल में जितने टूरिस्ट आये हैं वे इस दस साल में आयेंगे।
पीएम मोदी ने कहा- उत्तराखंड के लिये कई बुनियादी ढांचा परियोजनाओं की योजना बनाई गई है, जिसमें चार धामों से सड़क संपर्क और भक्तों के लिये हेमकुंड साहिब के पास एक रोपवे शामिल है। पीएम मोदी ने केदारनाथ में कहा- यह दशक उत्तराखंड का है। अगले 10 वर्षों में राज्य में पिछले 100 वर्षों की तुलना में अधिक पर्यटक आयेंगे।

पीएम मोदी ने कहा- देश के सभी गणित और ज्योतिर्लिंग आज हमारे साथ जुड़े हुये हैं। उन्होंने शुक्रवार को केदारनाथ में द्रष्टा की समाधि पर आदि गुरु शंकराचार्य की 12 फुट की प्रतिमा का अनावरण किया। पीएम मोदी ने कहा- आप सभी आज यहां आदि शंकराचार्य समाधि के उद्घाटन के साक्षी हैं। उनके भक्त यहां आत्मा में मौजूद हैं। देश के सभी गणित और ‘ज्योतिर्लिंग’ आज हमारे साथ जुड़े हुये हैं।
पीएम मोदी ने आगे कहा- एक समय था जब अध्यात्म और धर्म को केवल रूढ़ियों से जोड़ा जाता था। लेकिन, भारतीय दर्शन मानव कल्याण की बात करता है, जीवन को समग्र रूप से देखता है। आदि शंकराचार्य ने समाज को इस सच्चाई से अवगत कराने का काम किया।
लगभग 35 टन वजनी शंकराचार्य की प्रतिमा पर काम 2019 में शुरू हुआ। पीएम मोदी ने हिमालयी मंदिर में 400 करोड़ रुपये से अधिक की पुनर्निर्माण परियोजनाओं की आधारशिला भी रखी। पीएम मोदी ने कहा- 2013 के विनाश के बाद लोग सोचते थे कि क्या केदारनाथ का पुनर्विकास किया जा सकता है। लेकिन मेरे भीतर एक आवाज ने हमेशा मुझसे कहा कि केदारनाथ को फिर से विकसित किया जायेगा।
प्रधानमंत्री ने आगे कहा- मैंने दिल्ली से केदारनाथ में पुनर्विकास कार्यों की नियमित रूप से समीक्षा की है। मैंने ड्रोन फुटेज के माध्यम से यहां किये जा रहे विभिन्न कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। मैं इन कार्यों के लिये मार्गदर्शन के लिये यहां सभी ‘रावलों’ को धन्यवाद देना चाहता हूं।

इससे पहले दिन में पीएम मोदी ने देहरादून हवाईअड्डे पर पहुंचने के बाद केदारनाथ के शिव मंदिर में पूजा-अर्चना की। उनका स्वागत उत्तराखंड के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (सेवानिवृत्त) और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *