बिहार की ये तेजतर्रार मुखिया भी लड़ेंगी चुनाव, सब कहते हैं लेडी पैड वूमेन, कहानी गर्व करने वाली

पटना

बिहार की सबसे चर्चित और तेजतर्रार मुखिया में शामिल रितु जायसवाल को लेकर एक बड़ी खबर सामने आई है। रितु जायसवाल भी इस बार का विधानसभा चुनाव लड़ने जा रही हैं। राजद ने उन्हें सीतामढ़ी की पहिहार विधानसभा से टिकट दिया है। शुक्रवार को तेजस्वी यादव ने पटना में उन्हें पार्टी का सिंबल सौंपा। रितु जायसवाल के चर्चे केवल बिहार ही नहीं बल्कि दिल्ली से हैं। अगर आप उनकी सोशल मीडिया प्रोफाइल यानी फेसबुक और ट्विटर पर जाएंगे तो आपको इसका सबूत भी मिल जाएगा। फेसबुक पर रितु जायसवाल की कवर तस्वीर उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू के साथ है। ये दिसंबर 2018 की तस्वीर है जब रितु को चैंपियन ऑफ चेंज अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था।

IAS की पत्नी ने बनाया खुद का नाम

रितु जायसवाल की जन्मभूमि हाजीपुर है। 1996 में उनकी शादी तब सेंट्रल विलेज कमीशन के डायरेक्टर रहे अरुण कुमार से हुई थी। सामान्य स्थिति में अफसर की पत्नी होने के बाद लोग सुख भरा जीवन जीने लगते हैं। लेकिन रितु जायसवाल ने थोड़ा कठिन रास्ता चुना। बच्चे जब थोड़ा बड़े हुए तो उन्होंने खासकर ग्रामीण महिलाओं के उत्थान के लिए पंचायत की राजनीति में एंट्री की। 2016 में वो सीतामढ़ी के सिंहवाहिनी से मुखिया बनीं। फिर उन्होंने नारी सशक्तिकरण के अपने मिशन को पूरा करना शुरू कर दिया। उन्होंने अपनी पंचायत में महिलाओं के लिए सैनिटरी पैड बैंक की स्थापना की। ये अपने तरह का खास कदम था जो महिलाओं और युवतियों की माहवारी से जुड़ी पीड़ा को ध्यान में रखते हुए उठाया गया था।

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए तमाम काम

रितु जायसवाल ने महिलाओं की माहवारी जैसे उस मुद्दे पर काम किया जिसे लेकर समाज में आज भी एक शर्म का बोध है। इसके अलावा उन्होंने महिला सशक्तिकरण के लिए भी तमाम काम किए हैं। उन्होंने अपनी पंचायत में स्किल ट्रेनिंग उपलब्ध कराई, महिलाओं के लिए सिलाई केंद्र बनवाए। इसके अलावा उन्होंने स्वयंसहायता समूह भी बनवाए हैं। रितु अपने कामों के लिए पीएम मोदी से भी सम्मानित हो चुकी हैं। इसके अलावा उनकी पंचायत 2019 में दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार भी हासिल कर चुकी है। 2016 में उन्हें उपराष्ट्रपि वैंकेया नायडू से आदर्श युवा सरपंच पुरस्कार भी मिला था। इसके अलावा वह 2019 में फ्लेम लीडरशिप अवॉर्ड से भी सम्मानित हो चुकी हैं।

टिकट मिलने के बाद फेसबुक पर रखी अपनी बात

राजद से विधानसभा चुनाव का टिकट मिलने और तेजस्वी यादव से मुलाकात के बाद रितु जायसवाल ने फेसबुक के माध्यम से अपनी बात साझा की है। रितु लिखती हैं, ’25 – परिहार विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के उम्मीदवार के रूप में विधान सभा चुनाव 2020 में रहूँगी। एक छोटे से पद मुखिया पर आसीन हूँ पर आप सब ने जात-पात, धर्म, पार्टी सब से ऊपर उठ कर हमेशा साथ दिया। ये सम्मान सिर्फ और सिर्फ मेरे ईमानदार सार्थक प्रयासों को ले कर आपने दिया। और राष्ट्रीय जनता दल के शीर्ष नेतृत्व ने भी हमारे आज तक के कार्यों पर विश्वास जताते हुए यह अहम फैसला लिया है। इस विश्वास केलिए नेता प्रतिपक्ष श्री तेजस्वी यादव जी एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय श्री लालू प्रसाद यादव जी को हृदय से धन्यवाद। सिर्फ और सिर्फ अपने कार्यों के आधार पर हीं पहचान बनाने वाली एक मुखिया को आपने उम्मीदवार बनाना उचित समझा ये अपने आप में बदलाव का संकेत दे रहा है।’

बदली हुई राजनीति का किया वादा

रितु आगे लिखती हैं, ‘इस सम्मान केलिए आपको जितना धन्यवाद दूँ वो कम होगा। राजद परिवार के अभिभावक तुल्य वरिष्ठ कार्यकर्ताओं को अंतर्मन से प्रणाम करती हूँ। हर कदम पर आपके मार्गदर्शन की आवश्यकता होगी। और राजद परिवार के सभी सदस्यों को भी यह वचन देती हूँ कि पार्टी को कई सालों से आज तक आप जैसे लाखों कार्यकर्ताओं ने जिस शिद्दत से अपने खून पसीने से सींचा है, उस त्याग और परिश्रम का मान सदा बनाये रखूंगी। बिहार की जनता भी अब बदलती राजनीति का एक नए स्वरूप को आने वाले समय में महसूस करेगी।’

25 – परिहार विधान सभा निर्वाचन क्षेत्र से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के उम्मीदवार के रूप में विधान सभा चुनाव 2020 में…

Ritu Jaiswal यांनी वर पोस्ट केले शुक्रवार, ९ ऑक्टोबर, २०२०

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *