Image Source : Image altered by Live Bihar

नई उड़ान- पटना एयरपोर्ट के रन-वे का विस्तार होगा, टैक्सी-वे के लिये अलग से जमीन दी गई

Patna : हवाई अड्डे से आने-जाने की कनेक्टिविटी और उड़ान संचालन में सुधार के लिये जय प्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे, पटना के रनवे का और विस्तार किया जायेगा। रविवार को पूर्व केंद्रीय मंत्री और स्थानीय सांसद रविशंकर प्रसाद की अध्यक्षता में सुरक्षित उड़ान संचालन और हवाईअड्डे के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिये सिफारिश समिति ने एयरपोर्ट ऑडिटोरियम में बैठक कर इस पर फैसला लिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, हवाईअड्डा प्राधिकरण के अधिकारियों ने समिति को हवाई अड्डे के मौजूदा टर्मिनल हॉल में किये गये परिवर्तनों के बारे में भी अवगत कराया और साथ ही नये टर्मिनल हॉल की निर्माण प्रगति के बारे में भी अपडेट किया गया। इसके साथ ही एयरपोर्ट परिसर में तीसरा लगेज एरिया भी बनाया गया है जिससे आने वाले यात्रियों को अपना सामान लेने में आसानी होगी।

बैठक और समिति द्वारा लिये गये निर्णयों के बारे में बात करते हुये अध्यक्ष रविशंकर प्रसाद ने कहा कि नये टर्मिनलों के निर्माण के साथ-साथ मौजूदा रनवे का विस्तार आवश्यक था। उन्होंने आगे कहा कि तकनीकी टीम के साथ उचित परामर्श के बाद ही कोई निर्णय लिया जायेगा क्योंकि इससे हवाईअड्डा संचालन प्रभावित होगा।
साथ ही, नये टर्मिनल के निर्माण के साथ, यात्रियों की संख्या भी 35 लाख प्रति वर्ष से बढ़कर लगभग 80 लाख प्रति वर्ष हो जायेगी और फिर, रनवे का विस्तार अपरिहार्य होगा। समिति ने शहर के जिला मजिस्ट्रेट को भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के स्वामित्व वाली जमीन को हवाई अड्डे के समानांतर एक हवाई टैक्सी मार्ग के निर्माण के लिये हवाई अड्डे को सौंपने की भी सिफारिश की है।
यह समानांतर एयर टैक्सी-वे उड़ान संचालन के दौरान रनवे पर भीड़भाड़ की समस्या को हल करेगा क्योंकि वर्तमान में, उड़ानें रन-वे पर ही उड़ान से पहले जांच के लिये तैयार की जाती हैं, जिससे अन्य उड़ानों के लिये इसे अवरुद्ध कर दिया जाता है। टैक्सीवे के बनने से, विमानों के पास अब उड़ान के लिये तैयार होने का एक अलग क्षेत्र होगा और वास्तविक टेक ऑफ से पहले ही रनवे पर पहुंचेगा। इससे संचालित उड़ानों की संख्या लगभग दो गुना बढ़ने की उम्मीद है।
हवाईअड्डे और हवाईअड्डे के आसपास यात्रियों के बढ़ते ट्रैफिक को देखते हुये समिति ने डीएम से हवाईअड्डे को प्रस्तावित मेट्रो परियोजना से जोड़ने का भी अनुरोध किया है। इसी तरह के कदम बिहटा हवाई अड्डे के लिये भी प्रस्तावित किये गये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *