नीतीश सरकार का बंपर फैसला : ग्रेजुएशन पर छात्राओं को 50 हजार तो इंटर करने पर 25 हजार मिलेंगे

पटना : राज्य में सिपाही भर्ती के लिये जो परीक्षा होगी अब उसमें दसवीं स्टैंडर्ड तक के सवाल ही पूछे जायेंगे। पहले इंटर स्तर के सवाल पूछे जाने का प्रावधान था। मंगलवार को बिहार में नीतीश सरकार की कैबिनेट मीटिंग में यह फैसला लिया गया। चयन परीक्षा के लिये नया सिलेबस जारी किया गया है। सिलेबस में हिन्दी, अंग्रेजी, गणित, जेनरल साइन्स से संबंधित 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। हर सही जवाब के लिए एक अंक मिलेगा। कैबिनेट की इस बैठक में छात्राओं को लेकर भी अहम फैसला लिया गया। निर्णय लिया गया कि जो भी छात्रा इंटर पास करेगी और अविवाहित होगी उसे 25 हजार रुपये बतौर प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। यही नहीं स्नातक करने वाली हर छात्रा को 50 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी।
मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत उच्चतर शिक्षा के लिये छात्राओं को प्रोत्साहित करने के लिये इस योजना की शुरुआत की गई है। नीतीश सरकार छात्राओं को मुफ्त साइकिल जैसी प्रोत्साहन योजना चलाकर पहले से ही काफी लोकप्रिय हैं। इस योजना के प्रभावी होने से सरकार की लोकप्रियता ग्राफ में और भी इजाफा होने की संभावनाओं को नकारा नहीं जा सकता है। एक तरह से सरकार ने बालिकाओं की शिक्षा को ना सिर्फ सुविधाजनक कर दिया है बल्कि प्रोत्साहन राशि देकर अभिभावकों को भी प्रेरित करने की कोशिश कर रही है।
प्रधान कैबिनेट सचिव संजय कुमार ने मीडिया को ब्रीफ करते हुये बताया कि इस योजना से 4.30 लाख छात्राओं को लाभ होगा। इसके अलावा अल्पसंख्यक छात्र-छात्राओं के लिए 34 करोड़ रुपये दिये गये हैं। नई योजना के तहत मैट्रिक फर्स्ट डिवीजन से पास करनेवालों को 10 हजार और इंटर में 60 फीसदी से अधिक अंक लानेवालों को 15 हजार रुपये दिये जाएंगे। कैबिनेट बैठक में विभिन्न विभागों में 344 पदों पर बहाली की मंजूरी भी दी गई है। कैबिनेट बीस अलग अलग एजेंडे पर मुहर लगाई गई। कांट्रैक्ट कर्मियों की सेवा शर्तों की पुष्टि भी की गई। सारे विवादित प्रावधानों को अब हटा दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *