कांग्रेस की तरफ से नीतीश कुमार को आया बड़ा ऑफर, क्या ना बोल पाएंगे

पटना 

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजे जरूर सामने आ गए हैं लेकिन राजनीति का रण अभी समाप्त होता दिख नहीं रहा। मंगलवार देर रात चुनाव आयोग ने बिहार की फाइनल टैली की घोषणा कर दी। अंतिम नतीजों के मुताबिक NDA को 125 सीटें मिली हैं। इसमें भाजपा को 74, नीतीश को 43, VIP को 4 और हम को 4 सीटें मिली हैं। इसी तरह महागठबंधन को 110 सीटें मिली हैं। इनमें राजद को 75, कांग्रेस को 19 और वामपंथी दलों को 16 सीटें मिली हैं। यानी NDA ने बहुमत का आंकड़ा हासिल कर लिया है। यानी नीतीश कुमार का मुख्यमंत्री बनना तय है। पर इस बीच कांग्रेस ने एक बड़ा खेल कर दिया है।

नीतीश को लालू की दोस्ती, गान्धी की शिक्षा की याद दिलाई

Exegesis on Nitish kumar will remembered on the dahi chooda bhoj |  दही-चूड़ा भोज पर याद आयेगा नीतीश का 'टीका' - Exegesis on nitish kumar will  remembered on the dahi chooda bhoj -

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह में बुधवार को सिलसिलेवार कई ट्वीट किए हैं। ये ट्वीट सीधे नीतीश कुमार को संबोधित करते हुए किये गए हैं। दिग्विजय ने लिखा है, ‘भाजपा/संघ अमरबेल के समान हैं, जिस पेड़ पर लिपट जाती है वह पेड़ सूख जाता है और वह पनप जाती है। नितीश जी, लालू जी ने आपके साथ संघर्ष किया है आंदोलनों मे जेल गए है भाजपा/संघ की विचारधारा को छोड़ कर तेजस्वी को आशीर्वाद दे दीजिए। इस “अमरबेल” रूपी भाजपा/संघ को बिहार में मत पनपाओ।’

‘नीतीश जी, बिहार आपके लिए छोटा’

Digvijay Singh controversial statement on Kashmir | दिग्विजय सिंह का  विवादित बयान- कश्मीर को 'भारत ऑक्युपाइड कश्मीर' बताया | Hindi News, देश

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह आगे लिखते हैं, ‘नितीश जी, बिहार आपके लिए छोटा हो गया है, आप भारत की राजनीति में आ जाएँ। सभी समाजवादी धर्मनिरपेक्ष विचारधारा में विश्वास रखने वाले लोगों को एकमत करने में मदद करते हुए संघ की अंग्रेजों के द्वारा पनपाई “फूट डालो और राज करो” की नीति ना पनपने दें। विचार ज़रूर करें। यही महात्मा गॉंधी जी व जयप्रकाश नारायण जी के प्रति सही श्रद्धांजलि होगी। आप उन्हीं की विरासत से निकले राजनेता हैं वहीं आ जाइए। आपको याद दिलाना चाहूँगा जनता पार्टी संघ की Dual Membership के आधार पर ही टूटी थी। भाजपा/संघ को छोड़िए। देश को बर्बादी से बचाइए।’

क्या ऑफर स्वीकार करेंगे नीतीश?

Bihar CM Nitish Kumar tests COVID-19 negative after meet with infected BJP  leader - The Week

अब बड़ा सवाल है कि क्या नीतीश कुमार इस ऑफर को स्वीकार करेंगे। असल मे सारा खेल राजनीति को देखने के नजरिये का है। नीतीश पहली बार बिहार में सरकार बनाते समय बॉर्डर लाइन मामले में फंसे हैं। बहुमत से केवल 2 विधायक अधिक हैं। ऐसे में उन्हें इस बार सरकार चलाने में वयापक दबाव का सामना करना है। बिहार भाजपा के पाश नीतीश से अधिक सीटें हैं। इस बार भाजपा से CM का चेहरा देने की मांग हो रही है। ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि कांग्रेस के ऑफर पर नीतीश क्या कहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *