PTI4_30_2019_000031B

बिहार को 9 मेगा प्रोजेक्ट दे रहे थे मोदी, नीतीश ने ‘ये दिल मांगे मोर’ स्टाइल में कर दी नई मांग

पटना
बिहार में आने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर विकास के नए-नए कार्यों और मेगा प्रोजेक्ट्स के बड़े-बड़े ऐलान हो रहे हैं। लंबित कार्यों को पूरा किया जा रहा है और विकास की नई योजनाओं का शिलान्यास किया जा रहा है। इसी क्रम में पीएम मोदी ने सोमवार 21 सितंबर को भी बिहार को 9 मेगा प्रोजेक्ट्स की सौगात दी है। पीएम मोदी ने ऑनलाइन कार्यक्रम में इन 9 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस वर्चुअल कार्यक्रम में पीएम मोदी के साथ बिहार सीएम नीतीश कुमार, डिप्टी सीएम सुशील मोदी और केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह भी मौजूद रहे। हम आपको विस्तार से बताएंगे कि आखिर इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने किन-किन मेगा प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया। इससे पहले आपको सीएम नीतीश कुमार से जुड़ा वो वाकया बताते हैं, जो बिल्कुल ये दिल मांगे मोर की स्टाइल में सामने आया।

असल में सीएम नीतीश कुमार इस कार्यक्रम के संदर्भ में अपनी बात रख रहे थे। इस दौरान उन्होंने इन प्रोजेक्ट्स से जुड़े फायदे गिनाए। साथ ही अपनी सरकारों की उपलब्धियों को भी गिनाया। इसी बीच सीएम ने लगे हाथ पीएम मोदी के सामने एक नई मांग रख दी। सीएम नीतीश ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को बक्सर से जोड़ दिया जाए। इससे बिहार भी एक्सप्रेस वे के जरिए दिल्ली से जुड़ जाएगा। नीतीश ने इसके लिए रास्ता सुझाते हुए कहा कि लखनऊ से गाजीपुर तक आ रही 8 लेन सड़क को बक्सर से भी जोड़ दिया जाए। आपको बता दें कि पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के माध्यम से गाजीपुर लखनऊ एक्सप्रेस से होते हुए दिल्ली से जुड़ जाएगा। इससे पूर्वांचल सीधे तौर पर दिल्ली से कनेक्ट हो जाएगा।

14258 करोड़ के 9 मेगा प्रोजेक्ट का हुआ शिलान्यास

पीएम मोदी ने पिछले दिनों में बिहार में हजारों करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया है। इसी तरह का एक वर्चुअल कार्यक्रम सोमवार को भी हुआ। पीएम मोदी ने 14 हजार 258 करोड़ की लागत के 9 मेगा प्रोजेक्ट्स का शिलान्यास किया है। इसमें महत्वपूर्ण पुल भी हैं। एक गांधी सेतु के समानांतर सेतु। 14.5 किलोमीटर लंबे इस सेतु की लागत 2926.2 करोड़ रुपये आनी हैं। इसी तरह भागलपुर में नया बिक्रमशिला सेतु का शिलान्यास हुआ है। 4.45 किलोमीटर लंबे इस सेतु की लागत 1110.23 करोड़ रुपये आनी है। इसके अलावा कोसी पर फुलौत घाट सेतु का भी शिलान्यास हुआ है। 28.83 किमी लंबे इस सेतु की लागत 1478.4 करोड़ रुपये आनी है।

इनके अलावा 98.12 किलोमीटर लंबे रजौली-बख्तियारपुर एनएच का शिलान्यास हुआ है। इसकी लागत 3800.31 करोड़ रुपये आनी हैं। 115.33 किमी लंबे आरा-मोहनिया एनएच (लागत 1741.34 करोड़), 49 किमी के नरेनपुर-पूर्णिया एनएच (लागत 2288 करोड़), 39 किमी के पटा रिंग रोड (रामनगर-कन्हौली) (लागत 913.15 करोड़) का भी शिलान्यास किया गया है। इसके अलावा पीएम मोदी ने ग्रामीण बिहार में ऑप्टिकल फाइबर से इंटरनेट सेवा का तोहफा भी दिया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *