चिराग पासवान और नीतीश कुमार की फाइल फोटो।

नीतीश बोले- लोजपा की टूट में मेरी कोई भूमिका नहीं, पब्लिसिटी के लिये चिराग मेरा नाम ले रहे हैं

Patna : नई दिल्ली पहुंचने के बाद संवाददाताओं के टोकने पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि लोजपा में पब्लिसिटी के लिये उनका नाम उछाला जा रहा है। उन्होंने कहा- लोक जनशक्ति में टूट उनकी पार्टी का अंदरुनी मामला है। इसमें हमारी कोई भूमिका नहीं है। फिर भी कुछ लोग हम पर ही बोलते रहते हैं। इसलिये कि हम पर बोलेंगे, तब न उनको (चिराग) पब्लिसिटी मिलेगी। उनका इतना कहना था कि किसी पत्रकार ने पूछ लिया- क्या पशुपति कुमार पारस जदयू में आयेंगे तो आप लोग जदयू में उनका स्वागत करेंगे? इस सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा – उनका (पारस) तो बयान आ चुका है, एनडीए को लेकर। पप्पू के जेल जाने से जुड़े सवाल के बारे में सीएम का कहना था कि मैंने इस बारे में कुछ नहीं किया। कोर्ट में पुराना केस था। कोर्ट के आदेश पर सबकुछ हुआ।

 

कैबिनेट विस्तार के संदर्भ में भाजपा से संबंध से जुड़े एक सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा – मैं निजी काम से दिल्ली आया हूं। आंख में थोड़ा प्रॉब्लम है। इसी का चेकअप कराना है। जरूरत पड़ेगी, तो ट्रीटमेंट होगा। कैबिनेट विस्तार या प्रधानमंत्री से मुलाकात जैसी कोई बात नहीं है। पता नहीं कैसे कैबिनेट विस्तार की चर्चा निकल पड़ी और इसे मेरी इस यात्रा से जोड़ दिया गया? यह तो प्रधानमंत्री के ऊपर है। उन्होंने कहा – कहीं कोई बात नहीं है, कोई विवाद नहीं है। हमलोग साथ में हैं।
इधर लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान भाजपा के रवैये से बेहद दुखी हैं। उन्होंने कहा- मैं अपनी पार्टी के अंदर बड़ी लड़ाई लड़ रहा हूं। बाहर भी चुनौतियों का सामना कर रहा हूं। भाजपा ने मानसिक पीड़ा पहुंचाई है। भाजपा की चुप्पी ने आघात पहुंचाया है। जो कुछ उनकी ओर से हुआ, वह तो मेरे लिये अप्रत्याशित ही था। ऐसे में एकतरफा संबंध आगे नहीं चल सकता। वे उसे आगे लेकर नहीं जा सकते। चिराग ने कहा कि उनके पिता रामविलास पासवान और वे हमेशा ही चट्टान की तरह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा के साथ खड़े रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *