File photo of nitidh kumar. Photo- Agency

नीतीश बोले- जो 60 साल में न हुआ वो 15 साल में कर दिखाया, 38 इंजीनियरिंग और 31 पॉलिटेक्निक खोला

Patna : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार की प्रगति की दिशा में जो काम मौजूदा सरकार ने पिछले पंद्रह साल में किया है वो उसके पहले के 60 साल में नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि प्रदेश में युवाओं को तकनीकी रूप से दक्ष करने की तमाम योजनाओं पर काम चल रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक के बाद एक तीन अलग-अलग ट‍्वीट किये और स्पष्ट किया कि तकनीकी विकास के क्षेत्र में प्रदेश में पिदले पंद्रह वर्षों में क्या-क्या हुआ है। आज ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट‍्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बिहार का फंगस करार दिया। तेजस्वी ने कहा कि पब्लिक की पसंद और फैसले के विपरीत चुनाव आयोग ने नीतीश कुमार को बिहार के फंगस के रूप में स्थापित कर दिया और पब्लिक अब सारी परेशानियां झेल रही है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज एक के बाद एक कई ट‍्वीट किये। उन्होंने अपने तीन अलग-अलग ट‍्वीट में अपनी बात स्पष्ट की- सन् 1954 से 2005 तक राज्य में कुल 3 अभियंत्रण महाविद्यालय और 13 सरकारी पॉलिटेक्निक संस्थान थे, जिनकी प्रवेश क्षमता क्रमश: लगभग 800 एवं 3840 थी। देश के पुराने अभियंत्रण महाविद्यालयों में से एक बिहार कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, पटना को केन्द्र में रहते हुए वर्ष 2004 में NIT(National Institute of Technology) में परिवर्तित कराया। पिछले 15 साल में 38 अभियंत्रण महाविद्यालयों तथा 31 पॉलिटेक्निक संस्थानों की स्थापना की गयी है, जिनकी प्रवेश क्षमता क्रमश: 9975 और 11,332 है। अब राज्य के प्रत्येक जिले में कम से कम एक अभियंत्रण संस्थान स्थापित है। उच्च तकनीकी शिक्षा में विकास का प्रयास जारी रहेगा।
हालांकि मुख्यमंत्री के इस दावे पर कई लोगों ने व्यंग्यात्मक रूप में सरकार को आइना दिखाने की कोशिश की। लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि टीचर ही नहीं हैं और स्टूडेंट दीवार देखकर खुश रहते हैं। एक यूजर रोनी महतो ने लिखा- Per sir Teachers kha haii… Guru Bina gyaan Apne is Bihar me hi mil sakta haiii..?? Sirf Degree deti haii, apki Universities Lecturer toh Gayab haii. Kyu naa ho kyuki प्रोफेसर haii. क्युकि बहाली आपने निकाली नहीं! How Useless Govt.
एक यूजर पवन कुमार ने मजाक किया- और बच्चो को कुर्सी और दीवार पढ़ाते हैं ।

इधर तेजस्वी यादव ने भी आज मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को आड़े हाथों लिया। उन्होंने दैनिक भास्कर की एक खबर को पोस्ट करते हुये ट‍्वीट किया- नीतीश सरकार नवंबर माह में चुनाव आयोग द्वारा बिहार पर थोपा गया फंगस है। जनता का निर्णय बदल चुनाव आयोग को अपना “नतीजा” सुनाना बिहार को महँगा पड़ रहा है। अधिकारियों के भेष में चुनाव आयोग में घुसपैठ कर सिस्टम में बैठे भाजपाई कठपुतलियों को उसका ईनाम भी मिला।

तेजस्वी ने फिर भाजपा अध्यक्ष के बयान को भी ट‍्वीट करते हुये लिखा- बेचारे नीतीश कुमार। इस खबर में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष नीतीश कुमार की सरकार की कार्यप्रणाली पर उंगली उठा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *