निर्माणाधीन गंगा पथ एक्सप्रेस वे। Image Source : altered by Live Bihar

लोकनायक गंगापथ एक्सप्रेस-वे की बाधा दूर- 2000 करोड़ हुडको देने को तैयार, बांसघाट और दीदारगंज में चेकपोस्ट

Patna : लोकनायक गंगापथ एक्सप्रेस-वे के त्वरित निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। अब पैसा इसके निर्माण में आड़े नहीं आयेगा। मंगलवार को इसके निर्माण को लेकर एक समझौता हुडको से हुआ है। अब समय से निर्माण राशि हुडको की ओर से मुहैया कराई जायेगी।
अफसरों ने बताया कि हुडको से 2000 करोड़ का कर्ज लेने का समझौता हुआ है। समझौते पर बिहार राज्य सड़क विकास निगम लिमिटेड की ओर से एमडी पंकज कुमार ने हस्ताक्षर किये हैं। 20.5 किलो मीटर लंबी इस सड़क में 11.7 किमी एलिवेटेड रोड है। इसकी कुल लागत 3390 करोड़ है, जिसमें से 1390 करोड़ राज्य सरकार खर्च कर रही है।

शेष राशि 2000 करोड़ का कर्ज हुडको (हाउसिंग अर्बन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन) से लिया जा रहा है। एक्सप्रेसवे को एलसीटी घाट, एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट, कृष्णा घाट, गे घाट, कंगन घाट और पटना घाट पर अशोक राजपथ से जोड़ा जा रहा है। हालांकि इस परियोजना के जुलाई 2023 तक पूरा होने की उम्मीद है, लेकिन अगले साल मार्च तक दीघा से एएन संस्थान तक सड़क शुरू करने का लक्ष्य है।
इसके शुरू होने से गांधी सेतु के लिये कंकड़बाग सहित पूर्वी पटना की ओर से उत्तर बिहार की ओर जाने वाले वाहन सीधे जेपी सेतु से रवाना होंगे। इससे शहर में वाहनों का दबाव कम होगा। यह हिस्सा तेजी से बनाया जा रहा है, जिसमें 15.7 किमी लंबाई में कुल 1540 करोड़ की लागत आ रही है।
इस एक्सप्रेस-वे को पार करने के लिये 13 अंडरपास और 8 फुट ओवर ब्रिज बनाये जायेंगे। दीदारगंज में दीघा से एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट और नूरदिंगघाट से गोप घाट तक यानी गंगा नदी की ओर 5 मीटर चौड़ा वॉकिंग ट्रैक, 8 बस स्टॉप और 8 पैसेंजर शेड, 7 हाईटेक पार्क के साथ दीदारगंज में भारी वाहन बस स्टैंड बनाया जायेगा।
धर्मशाला घाट के पास दो टेल प्लाजा, बांस घाट और दीदारगंज चेकपोस्ट बनाये जायेंगे। हुडको से लिया जा रहा ऋण टोल और राज्य के संसाधनों से चुकाया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *